इराक़ में तेल का कुआँ नीलाम

इराक़ के तेल मंत्री ने घोषणा की है कि तेल कंपनी शेल और मलेशिया की पेट्रोनास ने संयुक्त रूप से इराक़ का एक बड़ा तेल का कुँआ ख़रीद लिया है.

मजनून नाम का ये तेल का कुँआ दक्षिणी इराक़ में है और ईरान की सीमा के नज़दीक है. बग़दाद में तेल के दस कुँओं की नीलामी चल रही है. अमरीकी हमले के बाद ऐसी नीलामी इराक़ के इतिहास में दूसरी बार हो रही है.

इसके लिए भारत और चीन समेत कई कंपनियों के बड़े अधिकारी इकट्ठा हुए हैं. इराक़ में बड़ी संख्या में तेल के भंडार हैं.

तेल के भंडार के कारण ऊर्जा कंपनियों के लिए इराक़ निवेश का बड़ा केंद्र बन सकता है लेकिन वहाँ के नाज़ुक हालात, राजनीतिक अस्थिरता और सुरक्षा की स्थिति के कारण ऐसा नहीं हो पा रहा है.

सुरक्षा चिंता

इसी हफ़्ते बग़दाद में पांच बड़े धमाके हुए हैं जिनमें से एक धमाका तेल मंत्रालय के पास हुआ था. सैकड़ों लोग मारे गए थे या घायल हो गए थे.

इस सब के बावजूद इराक़ सरकार तेल के कुँओं की नीलामी करवा रही है.

बम धमाकों के बाद प्रधानमंत्री नूर अल मलिकी की सरकार पर काफ़ी दवाब है. सरकार को निवेश और सकारात्मक छवि की सख़्त ज़रूरत है. माना जा रहा है कि इस नीलामी के ज़रिए सरकार को दोनों मिल पाएँगे.

हालांकि निवेशकों के लिए केवल सुरक्षा ही एक मुद्दा नहीं है. तेल के कुछ कुओं को लेकर इराक़ के कुर्द प्रांतो और सरकार के बीच विवाद है.

तेल क्षेत्र की निगरानी से जुड़ा विधेयक अभी तक इराक़ी संसद ने पारित नहीं किया है. इसलिए कुछ राजनेताओं को लगता है कि ये नीलामी करना शायद जल्दबाज़ी है.

संबंधित समाचार