चीन सरकार की अजीब समस्या

चीनी पैसा
Image caption इस साल बजट का एक तिहाई से अधिक कोष ख़र्च नहीं किया जा सका है.

चीन का वित्त मंत्रालय अपने राष्ट्रीय बजट का एक बड़ा हिस्सा ख़र्च नहीं करने पाने का बचाव कर रहा है, जबकि नए साल के ख़त्म होने में दो सप्ताह से भी कम का समय रह गया है.

चीन से आने वाली ख़बरों के अनुसार इस साल के बजट का एक तिहाई से अधिक कोष ख़र्च नहीं किया जा सका है, जो क़रीब 290 अरब अमरीकी डॉलर है.

बजट की राशि अब तक बचे रह जाने के मामले ने देश में सार्वजनिक वित्त के ख़र्च करने के तौर-तरीक़ों पर बहस छेड़ दी है.

हालाँकि अधिकारियों के अनुसार चीन में काम करने का जो तरीक़ा है उसके अनुरुप ये पिछले कई वर्षों से हो रहा है.

ध्यान की ज़रूरत

उनका कहना है कि मार्च में शुरू होने वाली परियोजानाओं में सामान्य तौर पर तीसरी और चौथी तिमाही में अधिक पैसे ख़र्च किए जाते हैं.

अधिकारियों का कहना है कि पिछले साल भी बजट का एक बड़ा हिस्सा दिसंबर महीने में ख़र्च करने के लिए बचा रह गया था. जिसमें कुछ कोष नए साल में ख़र्च करने के लिए होते हैं.

लेकिन आलोचकों का कहना है कि इस साल के मामले पर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है, क्योंकि ख़र्च नहीं होने वाली राशि बहुत ही अधिक है.

उनका कहना है कि सरकार कार्यक्षमता के सिद्धांत को भूल गई है जिसके नतीजे में बर्बादी और ग़ैरक़ानूनी गतिविधियों होती हैं.

सरकार के इस उदासीनता पर अनेक लोग क्रोधित हैं, क्योंकि लाखों परिवार और छोटे व्यापारी आर्थिक सहायता के लिए लालायित रह गए, जबकि अरबों डॉलर ख़र्च नहीं किए जा सके.

संबंधित समाचार