ऑटो एक्सपो में कारों का जलवा

कार
Image caption ऑटो एक्सपो में वोक्सवॉगन की नई कार भी लांच हुई है.

राजधानी दिल्ली में मंगलवार को शुरू हुआ ऑटो एक्सपो नए साल के तोहफे से कम नहीं है.

मंदी के दौर में ये तोहफा है खास मध्यमवर्गीय खरीददारों के लिए. ऑटो एक्सपो में अंतर्राष्ट्रीय कंपनियां लेकर आई हैं छोटी गाड़ियों के नए मॉडल्स.

यानि अब मारुति की ऑल्टो, स्विफ्ट, एस्टिलो या ह्युन्डई की सैन्ट्रो, आई-टेन, गेट्ज़ और टाटा की इंडिका के अलावा अब छोटी गाड़ियों में नए विकल्प सामने आ गए हैं.

जापानी कंपनी टोयोटा इस साल के अंत तक अपनी छोटी गाड़ी इटीयोस भारत में लाएगी.

टोयोटा के उप-प्रबंध निदेशक संदीप सिंह के मुताबिक ये गाड़ी ना सिर्फ देखने में खूबसूरत है बल्कि बैठने में आरामदायक और चलाने में किफायती भी है.

वहीं जर्मन कंपनी वोल्क्सवैगन साल 2011 तक अपनी छोटी कार पोलो को बाज़ार में उतारेगी. इस गाड़ी का दाम पाँच से सात लाख के बीच होने की उम्मीद है.

अमरीकी कंपनी जेनरल मोटर्स भारतीय सड़कों पर अपने दो नए मॉडल्स लेकर आ रही है. जीएम की छोटी गाड़ी शेव्रोले स्पार्क का नया मॉडल ई-स्पार्क और बेहद स्पोर्टी लुक वाली छोटी गाड़ी बीट.

Image caption ऑटो एक्सपो में होंडा की नई कार भी लांच हुई है

छोटी गाड़ियों की दौड़ में ह्युन्डाई अपनी आई10 और आई20 के बाद अब आई30 लेकर आ रही है.

वैसे जानकारों के मुताबिक छोटी गाड़ियों के बाज़ार में अंतर्राष्ट्रीय कंपनियों की इस दिलचस्पी की एक बड़ी वजह है आर्थिक मंदी. जिसकी वजह से उनके अपने बाज़ारों में इन गाड़ियों की मांग कम हो गई है.

वहीं भारत में ये एक उभरता और बढ़ता बाज़ार है. जापान की कंपनी होन्डा के वाइस प्रेज़िटडेंट, मार्केटिंग, ग्यानेश्वर सेन के मुताबिक उनका अध्ययन बताता है कि इस वक़्त भारत में होने वाली गाड़ियों की बिक्री का 60 फीसदी हिस्सा छोटी गाड़ियाँ और 40 फीसदी बड़ी गाड़ियाँ है.

होन्डा भी 1200 सीसी की एक छोटी गाड़ी के कॉन्सेप्ट के साथ तैयार है. दिखने में बेहद स्टाइलिश, ये गाड़ी साल 2011 तक बाज़ारों में लाई जाएगी.

वैसे छोटी गाड़ियों की रानी माने जाने वाली मारुति भारतीय बाज़ार में इस अंतर्राष्ट्रीय मुकाबले के लिए तैयार है.

ऑटो एक्सपो में मारुति ने पेश की है एक नई छोटी गाड़ी - एफ3 का कॉन्सेप्ट. छह लोगों के बैठने के लिए बनी इस गाड़ी के दरवाज़े पुरानी गाड़ियों की तरह उल्टे खुलते हैं.

यानि हर छोटी गाड़ी अपने नए अंदाज़ के बल पर इस दौड़ में आगे रहना चाहती है.

खैर इतना तय है कि मुकाबले में चाहे कोई कंपनी किसी को भी मात दे, लेकिन नए विकल्पों का तोहफा जीता है खरीददार ने.

वैसे छोटी कारों के अलावा दसवें ऑटो एक्सपो में कारों के शौकीन लोगों के लिए भी कुछ खास है. मर्सिडीज़, ऑडी और बीएमडब्ल्यू, तीनों कंपनियां एक करोड़ से महंगी गाड़ियां बाज़ार में उतार रही हैं.

इस साल ऑटो एक्स्पो में 30 देश हिस्सा ले रहे हैं औऱ इसमें 20 लाख से भी ज़्यादा लोगों के आने की उम्मीद है.

संबंधित समाचार