बढ़ सकता है विमान किराया

  • 18 जनवरी 2010
विमान
Image caption एक माह में दूसरी बार हवाई इंधन की क़ीमतें बढ़ी हैं

भारत में तेल कंपनियों ने हवाई ईंधन के दाम बढ़ा दिए हैं. इससे हवाई यात्रा महंगी हो सकती है.

तेल मार्केटिंग कंपनियों ने हवाई ईंधन यानी एयर टर्बाइन फुएल (एटीएफ़) की कीमतों में साढ़े छह फ़ीसदी की अप्रत्याशित वृद्धि की है.

बढ़ी हुई दरें रविवार देर रात से लागू हो जाएगी.

अब दिल्ली में एक किलोलीटर एटीएफ का दाम 2519 बढ़ कर 41 हज़ार 216 रूपए हो जाएगा.

इसी के साथ पिछले दो महीनों से हवाई ईंधन के दाम घटाने का सिलसिला ख़त्म हो गया.

अंतरराष्ट्रीय बाज़ार में कच्चे तेल के दाम 84 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर निकलने के बाद तेल मार्केटिंग कंपनियों ने क़ीमतें बढ़ाई हैं.

इससे पहले पिछले साल अगस्त माह में दो बार एटीएफ के दाम बढ़ाए गए थे.

किसी भी विमान कंपनी की परिचालन लागत में एटीएफ़ के दामों की 40 फ़ीसदी हिस्सेदारी होती है.

इसलिए दाम बढ़ने पर एयरलाइन कंपनियों पर दबाव बढ़ेगा. भारत की कई निजी एयरलाइन कंपनियाँ पहले से ही घाटे में है. इसलिए आशंका है कि एटीएफ़ की बढ़ी हुई क़ीमतों का बोझ वे यात्रियों पर डाल सकती हैं.

संबंधित समाचार