अर्थव्यवस्था पर मुद्राकोष आशावान

  • 26 जनवरी 2010
चीन
Image caption चीन में इस वर्ष 10 प्रतिशत तक का विकास रहने का अनुमान

अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष (आईएमएफ़) ने कहा है कि इस वर्ष विश्व की अर्थव्यवस्था में 3.9 प्रतिशत का विकास होगा जो अपेक्षा से अधिक है.

आईएमएफ़ का ताज़ा अनुमान ऐसे दिन आया है जब ब्रिटेन के मंदी से बाहर आने की ख़बर आई है.

संस्था ने साथ ही कहा है कि विकसित देशों में आर्थिक विकास की गति धीमी रहेगी लेकिन चीन-भारत जैसी उभरती अर्थव्यवस्थाओं में तेज़ विकास होगा.

आईएमएफ़ के अनुसार चीन की अर्थव्यवस्था में इस वर्ष 10 प्रतिशत और भारत में इस वर्ष 7.7 प्रतिशत का विकास होगा.

संस्था ने लेकिन साथ ही चेतावनी भी दी है कि बेरोज़गारी के बढ़ने और अर्थव्यवस्थाओं को मज़बूत रखने के लिए ख़र्च किए जानेवाले सरकारी पैकेजों को हटा लेने से आर्थिक सुधार पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है.

अनुमान

आर्थिक विकास के नए आँकड़े उसकी नवीनतम रिपोर्ट में दिए गए हैं.

इसमें कहा गया है कि दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था अमरीका में 2.7 प्रतिशत का विकास होगा. संस्था ने पहले अमरीकी अर्थव्यवस्था में 1.5 प्रतिशत की वृद्धि का अनुमान लगाया था.

चीन के बारे में आईएमएफ़ का अनुमान है कि वहाँ इस वर्ष 10 प्रतिशत की वृद्धि होगी और अगले साल इसमें मामूली कमी होगी जब विकास दर 9.7 प्रतिशत हो जाएगी.

वहीं भारत के बारे में आईएमएफ़ ने इस वर्ष 7.7 प्रतिशत के विकास का अनुमान लगाया है जो पहले के उसके अनुमान से 1.3 प्रतिशत अधिक है.

ब्रिटेन उबरा

Image caption ब्रिटेन यूरोप की बड़ी आर्थिक शक्तियों में मंदी में रहनेवाला अकेला बड़ा देश था

आईएमएफ़ की नई रिपोर्ट आने से पहले ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था के मंदी से बाहर निकलने की ख़बर आई.

ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में वर्ष 2009 की अंतिम तिमाही में 0.1 प्रतिशत का विकास हुआ जो पहले लगाए गए अनुमान से कम है.

आईएमएफ़ का अनुमान है कि वर्ष 2010 में ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में 1.3 प्रतिशत का विकास होगा.

ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में पिछली छह तिमाहियों में लगातार संकुचन आया था. 1955 से तिमाही परिणामों की गणना शुरू होने के बाद पहली बार ब्रिटेन में ऐसी स्थिति सामने आई थी.

हाल के समय में ब्रिटेन ऐसी अंतिम बड़ी अर्थव्यवस्था थी जो अभी तक मंदी में चल रही थी.

यूरोप की दो बड़ी आर्थिक शक्तियाँ जर्मनी और फ़्रांस पिछले साल की गर्मियों में मंदी से बाहर आ गए थे.

जापान और अमरीका भी पिछले वर्ष मंदी से बाहर निकल गए.

आईएमएफ़ के अनुसार यूरो मुद्रा क्षेत्र के 16 यूरोपीय देशों में इस वर्ष एक प्रतिशत का विकास होगा जो पहले के अनुमान 0.3 प्रतिशत से कम है.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है