पच्चीस साल का हुआ डॉट कॉम

  • 15 मार्च 2010
इंटरनेट

इंटरनेट की दुनिया में आज का दिन काफ़ी अहम है. अहम इसलिए क्योंकि आज डोमेन नेम डॉट कॉम की 25वीं सालगिरह है.

आज से ठीक 25 साल पहले 15 मार्च 1985 को कंप्यूटर बनाने वाली एक कंपनी सिम्बॉलिक्स ने अपने नाम में डॉट कॉम जोड़ा था.

और आज 25 साल बाद क़रीब-क़रीब एक लाख डॉट कॉम वेबसाइट्स हर दिन रजिस्टर्ड होती हैं.

बीबीसी के तकनीकी मामलों के संवाददाता मैगी शिल्स का कहना है कि 80 के दशक के आख़िर और 90 के दशक के शुरू में इक्का-दुक्का ही ये जानता था कि ये डॉट कॉम क्या है.

लेकिन आज डॉट कॉम हमारे जीवन का हिस्सा है और इंटरनेट की दुनिया में मील का पत्थर.

विकास

आज लोग डॉट कॉम की दुनिया में गोते लगाकर शॉपिंग कर सकते हैं, मनोरंजन कर सकते हैं, नई चीज़ें सीख सकते हैं, विचारों का आदान-प्रदान कर सकते हैं, छुट्टियों की योजना बना सकते हैं और भी बहुत कुछ कर सकते हैं.

वर्ष 1985 में सिर्फ़ छह डॉट कॉम डोमेन नेम रजिस्टर हुए थे. आज क़रीब आठ करोड़ 60 लाख सक्रिय वेबसाइट्स हैं और 11 करोड़ 30 लाख वेबसाइट्स आईं और गईं.

वर्ष 1997 तक डॉट कॉम डोमेन नेम का आँकड़ा 10 लाख भी नहीं पहुँचा था. लेकिन इसी साल इंटरनेट के क्षेत्र में आई उछाल ने तस्वीर बदल कर रख दी.

इसी के साथ डॉट कॉम की दुनिया में भी धमाका हुआ और अगले दो साल में क़रीब दो करोड़ डोमेन नेम रजिस्टर हुए.

डॉट कॉम डोमेन नेम की निगरानी करने वाली कंपनी वेरीसाइन के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मार्क मैकलॉगलिन का कहना है, "दरअसल हम इंटरनेट का जश्न मना रहे हैं और डॉट कॉम इंटरनेट का चर्चित और जाना-पहचाना चेहरा है. 25 साल पहले किसने कल्पना की थी कि इंटरनेट आज ऐसी स्थिति में होगा."

मैकलॉगलिन का मानना है कि इंटरनेट के इस्तेमाल में नित-नए बदलाव हो रहे हैं और आने वाले दिनों में इसमें और बदलाव होंगे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार