गोल्डमैन सैक्स पर धाँधली का आरोप

अमरीका के वित्तीय नियामक ने निवेश बैंक गोल्डमैन सैक्स पर आरोप लगाया है कि उसने निवेशकों के साथ धोखाधड़ी की है.

द सेक्यूरिटीज़ एंड एक्सचेंज कमिशन( एसईसी) का आरोप है गोल्डमैन सैक्स ने ऐसा 2007 में किया जब अमरीका में आवास बाज़ार तेज़ी से गिर रहा था.

गोल्डमैन सैक्स ने इन आरोपों से इनकार किया है और कहा है कि वो अपनी छवि के बचाव में सारे ज़रूरी क़दम उठाएगा.

जब ये ख़बर आई कि एसईसी गोल्डमैन के ख़िलाफ़ धाँधली के आरोप दायर कर रहा है, तो इस निवेश बैंक के शेयर 12 फ़ीसदी गिर गए.

एसईसी का कहना है कि निवेश बैंक ने अपने उपभोक्ताओं को ये अहम जानकारी नहीं दी कि उसका एक क्लाइंट ‘पॉलसन एंड को’ इस चुनाव में मदद करता है कि कौन सी सिक्यूरिटी को मॉर्टगेज पोर्टफ़ोलिया में शामिल करना है. ये प्रतिभूतियाँ निवेशकों को 2007 में बेची गई थीं.

‘पॉलसन एंड को’ दुनिया के सबसे बड़े हेज फ़ंडों में से एक है.

कार्रवाई

एसईसी का कहना है, “गोल्डमैन सैक्स ने पॉलसन के अनुरोध पर एक विशेष लेन-देन किया जिसमें अहम चीज़ों का चयन पॉलसन ने किया ताकि उसके आर्थिक हितों का फ़ायदा हो सके.”

आयोग के मुताबिक जब अमरीका के आवासीय बाज़ार में संकट आया तो मॉर्टगेज प्रतिभूतियों में निवेशकों को एक अरब से ज़्यादा का नुकसान हुआ.

वहीं गोल्डमैन ने अपने बचाव में एक बयान जारी किया है. उसका कहना है, “एसईसी के आरोप बेबुनियाद हैं और हम अपनी संस्था की छवि को बचाने के लिए हर मुमकिन क़दम उठाएँगे. “

गोल्डमैन सैक्स की गिनती विश्व के सबसे प्रतिष्ठित निवेश बैंकों में होती है.वैश्विक आर्थिक संकट के दौरान बैंक पर कुछ ख़ास असर नहीं पड़ा था.

ये पहली दफ़ा है जब अमरीका में नियामकों ने वॉल स्ट्रीट के किसी ऐसे लेन-देन के ख़िलाफ़ कार्रवाई की है जिसमें कथित तौर पर निवेशकों की मदद की गई ताकि वो आवासीय बाज़ार संकट के दौरान फ़ायदा उठा सकें.

अमरीका के आवासीय बाज़ार में आए संकट के बाद ही आर्थिक मंदी का दौर शुरु हो गया था.

संबंधित समाचार