फ़ोर्ब्स की सूची में भारत की 56 कंपनियां

रिलायंस इंडस्ट्रीज़
Image caption भारतीय कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज़ को अव्वल स्थान मिला है

अमरीका की प्रतिष्ठित आर्थिक पत्रिका फ़ोर्ब्स ने विश्व की दो हज़ार बड़ी कंपनियों की नई सूची जारी की है जिसमें रिलायंस इंडस्ट्रीज़ और भारतीय स्टेट बैंक सहित भारत की 56 कंपनियों को जगह दी है.

ग्लोबल-2000 नामक इस सूची में दुनिया भर की बड़ी और अग्रणी कंपनियों को शामिल किया गया हैं, जिसमें अमरीका की बैंकिंग कंपनी जेपी मॉर्गन चेज़ को अव्वल स्थान दिया गया है जबकि भारत की 56 कंपनियों में नंबर वन स्थान रिलायंस इंडस्ट्रीज़ को मिला है.

विश्व स्तर पर दूसरा स्थान जनरल इलेक्ट्रिकल्स को दिया गया है, तीसरे नंबर पर बैंक ऑफ़ अमरीका है जबकि चौथे पायदान पर एक्ज़ॉन मोबिल रहा.

इस सूची को कंपनियों के विक्रय लाभ, कुल संपत्ति और शेयर बाज़ार में उनकी हैसियत के आधार पर तैयार किया गया है.

भारत का बोलबाला

भारतीय कंपनियों में मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज़ ने बाज़ी मारी और उसे ग्लोबल सूची में 126वां स्थान दिया गया है.

भारत की जिन बड़ी कंपनियों को इस सूची में शामिल किया गया है उनमें भारतीय स्टेट बैंक (130वां स्थान), ऑयल एंड नेचुरल गैस कॉपोरेशन लिमिटेड यानी ओएनजीसी (155वां स्थान), आईसीआईसीआई (282वां स्थान), इंडियन ऑयल (313वां स्थान) और नेशनल थर्मल पावर कॉपोरेशन यानी एनटीपीसी (341वां स्थान) दिया गया है.

इसी तरह टाटा स्टील (345वां स्थान), भारती एयरटेल (471वां स्थान), स्टील ऑथोरिटी ऑफ़ इंडिया (502वां स्थान), लारसन एंड टुर्बो (548वां स्थान) और एचडीएफडसी बैंक (632वां स्थान) को दिया गया है.

इस सूची में अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन (742वां स्थान) और रिलायंस इंफ़्रास्ट्रक्चर (1702 वां स्थान) को भी शामिल किया गया है.

ग्लॉबल-2000 सूची में 62 देशों की कंपनियों के नाम हैं, जिसमें अमरीका और जापान ने अपना दबदबा बरक़रार रखा है.

इस सूची में अमरीका की 515 कंपनियों को स्थान मिला है जबकि जापान की 212 कंपनियों को जगह दी गई है. हालांकि इस सूची में विकासशील देशों की कंपनियों की हिस्सेदारी बढ़ी है.

इस साल जिन देशों की कंपनियों ने अपनी हिस्सादारी बढ़ाई है उनमें चीन, भारत और कनाडा प्रमुख हैं.

चीन की 113 कंपनियां, भारत की 56 और कनाडा की 62 कंपनियों के नाम शामिल हुए हैं.

संबंधित समाचार