वित्तीय सुधारों पर अंतिम वोटिंग

  • 21 मई 2010

अमरीका के सीनेट ने वित्तीय सुधार प्रस्तावों पर चल रही बहस को ख़त्म करने के पक्ष में मतदान किया है जिसके बाद अब इस पर अंतिम वोटिंग हो सकेगी.

राष्ट्रपति बराक ओबामा इस बिल को काफ़ी अहमियत दे रहे हैं. कहा जा रहा है कि 30 के दशक में आई आर्थिक मंदी के बाद से ये वित्तीय प्रणाली में सबसे बड़ा फेरबदल होगा.

ओबामा ने कहा कि अब अमरीकी लोगों को वॉल स्ट्रीट की ग़लतियों के लिए कभी खामियाज़ा नहीं भुगतना पड़ेगा.

उनका कहना था कि बैंकरों ने इस बिल को रोकने की काफ़ी कोशिश की पर सफल नहीं हो सके.

राष्ट्रपति ने कहा, “आर्थिक जगत ने वित्तीय निगरानी से संबंधित सुधारों को रोकने की कोशिश की- उन्होंने लॉबिंग करने वालों का सहारा लिया और लाखों डॉलर के विज्ञापन दिए. लेकिन आज ये कोशिशें नाकाम हो गई हैं.”

बड़ा फेरबदल

अगर ये बिल पारित हो जाता है तो बैंकिंग जगत पर निगरानी और कड़ी हो जाएगी. इसका विरोध करने वाले कहते हैं कि इससे बैंकों के मुनाफ़े में कमी आएगी.

इस बिल में रिपब्लिकन पार्टी के लोग बाधा डालते रहे हैं जो कुछ बदलाव करवाने में सफल रहे.

अब बिल को पारित करने के लिए सीनेट में गुरुवार को देर शाम या शुक्रवार को वोटिंग हो सकती है.

बुधवार को डेमोक्रेटिक पार्टी के दो सदस्यों की मदद से रिपब्लिकन पार्टी के सदस्यों ने बिल पर वोटिंग नहीं होने दी थी पर गुरुवार को इस बिल पर बहस बंद करने का प्रस्ताव 60-40 से पारित हो गया.

वॉल स्ट्रीट के वित्तीय कामकाजों पर निगरानी रखने को लेकर आम लोगों में काफ़ी समर्थन है.

संबंधित समाचार