महँगाई इस साल पहली बार 10 प्रतिशत से कम

  • 29 जुलाई 2010
महँगाई

भारत की संसद के दोनों सदनों में महँगाई के मुद्दे पर भीषण हंगामा हो रहा है लेकिन भारत में खाद्य पदार्थों की कीमत इस साल पहली बार 10 प्रतिशत से नीचे गिरी है.

लगातार दूसरे हफ़्ते खाद्य पदार्थों की कीमत में कमी आई है और ये 9.67 प्रतिशत हो गई है.

जुलाई 17 को ख़त्म होने वाले हफ़्ते में महँगाई 12.47 प्रतिशत से 2.80 प्रतिशत गिरी.

विशेष तौर पर प्याज़ और आलू समेत कई सब्ज़ियों की कीमत में गिरावट देखी गई. प्याज़ की कीमत लगभग 46 प्रतिशत गिरी जबकि आलू की कीमत 10 प्रतिशत घटी है. कुल मिलाकर सब्ज़ियों की कीमत लगभग 14.77 प्रतिशत गिरी है.

चाहे महँगाई घटने के आंकड़ों से केंद्र सरकार को कुछ राहत मिली है लेकिन सरकार द्वारा जारी आंकड़ों से स्पष्ट है कि दालों की कीमत पिछले एक साल में 21.23 प्रतिशत, दूध की कीमत 19 प्रतिशत और फलों की कीमत 12 प्रतिशत बढ़ी है.

बढ़ी हुई महँगाई दर के कारण भारत के केंद्रीय रिज़र्व बैंक ने 27 जुलाई को बैंक ब्याज दर को 0.50 प्रतिशत बढ़ाया था जिसका असर आने वाले दिनों में महसूस होगा.

ग़ौरतलब है कि भारत में इस साल में खाद्य पदार्थों की महँगाई दर 16 प्रतिशत से अधिक रही है और मध्य जून में ही ये 13 प्रतिशत हुई थी.

कई पर्यवेक्षकों का मानना है कि अगले कुछ हफ़्तों में महँगाई और कम हो सकती है हालाँकि सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार कौशिक बासु का ये भी कहना है कि इस रुझान से बहुत ज़्यादा उम्मीद नहीं लगानी चाहिए.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार