थोड़ा सस्ता हुआ खाने का सामान

नए साल में आम लोगों को थोड़ी राहत भरी ख़बर मिली है. खाद्य सामग्री की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगी है और इसमें करीब दो फ़ीसदी की गिरावट आई है.

पाँच हफ़्ते तक लगातार बढ़ने के बाद खाने-पीने के सामान की महंगाई दर 1.81 फ़ीसदी गिरकर 16.91 प्रतिशत हो गई है.पिछले हफ़्ते ये दर 18.32 फ़ीसदी थी.

हालांकि सब्ज़ियों, प्याज़ और कुछ अन्य चीज़ों के दाम अब भी ऊँचे बने हुए हैं.

आधिकारिक आँकड़ों के मुताबिक अंडो, माँस और मच्छली की क़ीमत 16.70 फ़ीसदी बढ़ी तो फलों की की़मत में सालाना 17.71 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. जबकि दाल का दाम कम हुआ है.

पूरे दिसंबर महीने में खाने-पीने के सामान की क़ीमत काफ़ी ज़्यादा रही हैं.आसमान छूते प्याज़ के दाम ने लोगों को काफ़ी परेशान किया है.

इसका सीधा असर दिसंबर के लिए आने वाले मुद्रास्फ़िति के आँकड़े पर पड़ेगा जो शुक्रवार को जारी किए जाएँगे.

बढ़ती महंगाई को देखते हुए प्रधानमंत्री मनमोहन पिछले दो दिनों से वित्त और कृषि मंत्री के साथ बैठक कर रहे हैं. लेकिन ये बैठकें बेनतीजा रही हैं.

वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी ने नए आँकड़ों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि महंगाई रोकने के लिए उठाए जाने वाले क़दमों पर फ़ैसला हो चुका है.