आईएमएफ़ अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त करे: अमरीका

  • 18 मई 2011

अमरीका के वित्त मंत्री टिमोथी गीटनर ने कहा है कि बलात्कार के आरोप में हिरासत में रखे गए डोमिनिक स्ट्रास कान अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष को चलाने की स्थिति में नहीं हैं और आईएमएफ को अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त करना चाहिए.

स्ट्रॉस कान पर आईएमएफ की अध्यक्षता छोड़ने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दबाव बढ़ता जा रहा है और अब अमरीका ने भी इसकी मांग कर दी है.

कान पर आरोप है कि उन्होंने 14 मई को न्यूयॉर्क के सोफिटेल होटल की एक कर्मचारी के साथ बलात्कार के प्रयास किए. इस संबंध में उन पर सात आरोप हैं और उन्हें आत्महत्या निगरानी में रखा गया है.

आत्महत्या निगरानी का अर्थ है कि हर 15-20 मिनट पर उन्हें देखा जाए ताकि वो आत्महत्या की कोशिश न कर बैठें. अगर कान पर लगे आरोप सही साबित होते हैं तो उन्हें 25 साल की क़ैद हो सकती है.

2012 में होने वाले फ्रांस के राष्ट्रपति चुनावों के लिए कान को सोशलिस्ट पार्टी के उम्मीदवार के रुप में देखा जा रहा था.

अंतरराष्ट्रीय दबाव

गीटर ने न्यूयॉर्क के हार्वर्ड क्लब में कहा कि आईएमएफ के लिए नया नेता चुनना ज़रुरी हो गया है.

उनका कहना था, ‘‘ स्ट्रॉस कान आईएमएफ को चलाने की स्थिति में नहीं हैं. यह ज़रुरी है कि आईएमएफ का बोर्ड एक अंतरिम समय बनाए और नया प्रबंध निदेशक चुन ले.’'

यह पहली बार है जब ओबामा प्रशासन के किसी वरिष्ठ अधिकारी ने स्ट्रॉस कान के संबंध में बयान दिया है. हालांकि गीटनर ने कान पर लगे आरोपों के बारे में कुछ भी कहने से इंकार कर दिया.

अमरीका का ये बयान महत्वपूर्ण है क्योंकि अध्यक्ष के चयन में अमरीका के सबसे अधिक वोट होते हैं.

पिछले शनिवार को कान की गिरफ्तारी के बाद से जॉन लिप्सकी आईएमएफ के कार्यकारी प्रबंध निदेशक की ज़िम्मेदारी निभा रहे हैं.

कान के मामले की अगली सुनवाई शुक्रवार को होनी है.

महिला की स्थिति

इस बीच उस महिला के बारे में और जानकारी आई है जिन्होंने स्ट्रॉस कान पर दुराचार के आरोप लगाए हैं.

महिला की एक जेफ़री शापिरो का कहना है कि महिला अभूतपूर्व तनाव और परेशानी से गुज़र रही है.

इस महिला का नाम उजागर नहीं किया गया है और वो अभी छुपी हुई हैं और अकेलापन महसूस कर रही हैं.

शापिरो ने बताया कि यह महिला मूल रुप से अफ्रीकी देश गीनिया की है और सात वर्ष पहले अमरीका आई थी जहां वो अपनी किशोरवय बेटी के साथ रहती हैं.

शापिरो के अनुसार स्ट्रास कान द्वारा दुराचार की इस महिला की कहानी सच है क्योंकि उसने एक बार भी अपना बयान नहीं बदला है और न ही उसके बयानों में कोई शक करने वाली बात दिखती है.

शापिरो का कहना था, ‘‘ ये ऐसी घटना है जिसमें किसी भी तरह से ये साबित नहीं किया जा सकता कि महिला की मर्ज़ी थी. ये बिल्कुल सेक्स के लिए की गई हिंसा का मामला है. महिला की सच्चाई मेरी राय नहीं है बल्कि न्यूयार्क पुलिस विभाग की भी यही राय है.इस महिला का कोई एजेंडा नहीं है.’’

न्यूयॉर्क पुलिस के अनुसार जब यह महिला कान के कमरे को खाली समझ कर उसमें गई और जब वो इस कमरे में पहुंची तो कान नंगी अवस्था में बाथरुम से निकले और फिर महिला के साथ गंभीर बदतमीजियां की.

यह महिला किसी तरह कान के चंगुल से निकल भागने में सफल रही और उसने सीधे पुलिस से संपर्क किया.

महिला की शिकायत पर पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए कान को उस समय गिरफ्तार किया जब वो पेरिस जाने वाले विमान में सवार हो चुके थे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार