टाटा स्टील यूके में भारी छँटनी

स्कनथर्प इस्पात
Image caption स्कनथर्प इस्पात संयंत्र के कुछ हिस्सों को बंद किया जा रहा है

टाटा स्टील उत्तरी इंग्लैंड में अपने लगभग डेढ़ हज़ार लोगों को नौकरी से हटाने जा रहा है.

टाटा स्टील का कहना है कि वह स्टील की घटती माँग की वजह से स्कनथर्प संयंत्र से 1200 और टीसाइड से 300 कामगारों की छँटनी करने वाला है.

टाटा स्टील ने ब्रिटिश कंपनी कोरस का कुछ वर्ष पहले अधिग्रहण कर लिया था जिसके बाद वह दुनिया की सबसे बड़ी इस्पात उत्पादक कंपनियों में शामिल हो गई है.

इस्पात की माँग 35 प्रतिशत घटी

टाटा स्टील का कहना है कि ब्रिटेन में भवन निर्माण में इस्तेमाल होने वाले इस्पात की माँग में 2007 से अब तक चार वर्षों में लगभग 35 प्रतिशत की गिरावट आई है, कंपनी का आकलन है कि अगले पाँच वर्षों में भी स्थिति के सुधरने की आशा नहीं दिखती है इसलिए यह कटौती अवश्यंभावी हो गई थी.

उत्तरी इंग्लैंड में स्थित स्कनथर्प संयंत्र में मॉथबॉलिंग का काम बंद किया जा रहा है. टाटा स्टील यूरोप के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कार्ल उलरिच कोलर ने कहा कि "काफ़ी विचार-विमर्श के बाद यह निर्णय किया गया है".

कंपनी ने कहा है कि वह कर्मचारियों का यथासंभव ध्यान रखा जाएगा लेकिन कामगार संगठन यूनाइट का कहना है कि इन कटौतियों से उत्तरी इंग्लैंड में रहने वाले लोगों को ख़ासा धक्का लगेगा.

कर्मचारी संगठनों का कहना है कि किसी भी जबरन नौकरी से नहीं निकाला जाना चाहिए, जो लोग मुआवज़ा लेकर नौकरी छोड़ना चाहते हैं सिर्फ़ उन्हीं नौकरियों को बंद किया जाना चाहिए.

टाटा स्टील ने घोषणा की है कि वह इंग्लैंड और वेल्स में स्थित अपने कई इस्पात संयंत्रों में पूंजी निवेश भी कर रही है इसलिए यह सोचना ग़लत होगा कि कंपनी किसी बड़े आर्थिक संकट से गुज़र रही है लेकिन इन कटौतियों के अलावा कंपनी के पास कोई विकल्प नहीं है.

संबंधित समाचार