खाद्य पदार्थों की महंगाई आधा प्रतिशत बढ़ी

सब्ज़ियां इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption एक सप्ताह में खाद्य पदार्थों की क़ीमत की दर में आधे प्रतिशत की वृद्धि

भारत में खाद्य पदार्थों की मंहगाई की दर नौ प्रतिशत पार कर गई है. 28 मई को ख़त्म हुए सप्ताह में फलों, प्याज और प्रोटीन-युक्त पदार्थों की बढ़ती क़ीमतों के कारण ये दर 9.01 प्रतिशत तक पहुंच गई है.

थोक मूल्य सूचकांक के आधार पर मापी गई खाद्य महंगाई दर 26 मार्च के बाद पहली बार नौ प्रतिशत से ऊपर गई है.

लेकिन पिछले हफ़्ते की तुलना में ये सिर्फ़ क़रीब आधे प्रतिशत की बढ़ोतरी है. ताज़ा सप्ताह के मुक़ाबले पिछले वर्ष की इस हफ़्ते में खाद्य महंगाई दर क़रीब 21 प्रतिशत थी.

गुरुवार को जारी किए गए सरकारी आकंड़ो के अनुसार सालाना तुलना में फलों की कीमत क़रीब 31 प्रतिशत बढ़ी है और प्याज का भाव 14 फ़ीसदी बढ़ा है. वार्षिक तुलना के आधार पर दूध की क़ीमत में साढ़े आठ प्रतिशत, मांस,अंडे और मछली की क़ीमत में सात प्रतिशत बढ़ोतरी हुई है. दालों की कीमत में भी क़रीब सात प्रतिशत की वार्षिक वृद्धि हुई है.

उधर ग़ैर-खाद्य पदार्थों की महंगाई दर पिछले हफ़्ते के 21.31 प्रतिशत के स्तर स गिरकर 20.97 पर पहुंची है. ये भी क़रीब आधे प्रतिशत की गिरावट है.

हालांकि इस गिरावट से रिज़र्व बैंक और सरकार थोड़ी राहत की सांस ज़रुर लेंगे क्यों आरबीआई पहले ही कह चुका है कि ग़ैर-खाद्य क्षेत्र में मुद्रास्फीती निकट भविष्य में अर्थव्यवस्था को सबसे बड़ा ख़तरा है.

संबंधित समाचार