चुनाव से पहले ओबामा की बस यात्रा, सीधा संवाद

  • 16 अगस्त 2011
ओबामा

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अमरीकी अर्थव्यवस्था में तेज़ी लाने और रोज़गार के अवसर पैदा करने मक़सद से एक बस यात्रा शूरु की है. पर्यवेक्षक मान रहे हैं कि ये 2012 के राष्ट्रपति पद के चुनावों से पहले ओबामा के प्रचार का हिस्सा है.

तीन दिन के दौरा उन्होंने आयोवा से शुरु किया और फिर वे मिन्नेसोटा और इलिनोए भी जाएँगे.

ग़ौरतलब है कि कुछ ही दिन पहले रेटिंग एजेंसी स्टैंडर्ड एंड पूअर्स की ओर से अमरीका की क्रेडिट रेटिंग घटाने और फिर दुनिया भर के शेयर बाज़ार में मची उथल-पुथल के बाद ये दौरा हो रहा है. बुरी आर्थिक ख़बरों के बीच सर्वेक्षणों में ओबामा की लोकप्रियता घटती नज़र आ रही है.

लोकप्रियता 40 फ़ीसदी से कम, बेरोज़गारी - नौ फ़ीसदी

बीबीसी के उत्तर अमरीका संपादक मार्क मार्डेल के अनुसार राष्ट्रपति ओबामा मुश्किल में हैं. पहली बार उनकी लोकप्रियता 40 प्रतिशत से नीचे गिरी है और ये निश्चित तौर पर नहीं कहा जा सकता कि वे 2012 का चुनाव जीत ही लेंगे.

उनकी बस यात्रा उन्हें अमरीका के देहात में ले जाएगी और ऐसा प्रतीत हो रहा है कि ये चुनाव प्रचार का एक नया चरण है.

मार्डेल के अनुसार ओबामा कुछ छोटी-मोटी आर्थिक घोषणाएँ करेंगे अर्थव्यवस्था के भविष्य को लेकर चिंतित अमरीका में उन्हें ऐसा संदेश देने की ज़रूरत है जिसकी गूँज पूरे देश में सुनाई दे.

कोई भी राष्ट्रपति नौ प्रतिशत की बेरोज़गारी दर के चलते दोबारा चुनाव नहीं जीता है और उनके प्रतिद्वंद्वी इसका पूरा फ़ायदा उठा रहे हैं.

राष्ट्रपति कार्यालय ने रविवार को कहा, "राष्ट्रपति लोगों से चर्चा करेंगे कि अर्थव्यवस्था को कैसे आगे बढ़ाया जाए, मध्यवर्ग को कैसे मज़बूत किया जाए, शहरों-समुदायों में रोज़गार पैदा किए जाएँ. वे सीधे अमरीकियों से सुनना चाहेंगे जिनमें छोटे व्यापारी, स्थानीय परिवार, निजी क्षेत्र में काम करने वाले, देहाती संस्थाएँ और सरकारी अधिकारी होंगे."

लेकिन शनिवार को अपने रेडियो संदेश में वे स्पष्ट कर चुके हैं - "जहाँ हमारे देश के साथ कोई समस्या नहीं है, वहीं हमारी राजनीति में कुछ बहुत ही ग़लत है. हमें इसी का समाधान करना है. क्योंकि हम जानते हैं कि अमरीकी कांग्रेस (संसद) कई क़दम उठा सकती है, इसी समय उठा सकती है, ताकि आपकी जेब में पैसा आए, ये अर्थव्यवस्था तेज़ी से बढ़े और हमारे दोस्त-पड़ोसी दोबारा काम पर जाने लगें."

पर्यवेक्षकों का मानना है कि ये ओबामा के 2012 के चुनावों जीतने के प्रयास का नया चरण है क्योंकि उन्हें रिपब्लिकन पार्टी से जा रहे राजनीतिक संदेश को पलट कर अपना संदेश लोगों तक पहुँचाना है.

संबंधित समाचार