मंदी के बावजूद स्कॉच की मांग बढ़ी

स्कॉच की बोतल
Image caption ताइवान स्कॉच का पाँचवा सबसे बड़ा बाज़ार है

दुनिया चाहे वित्तीय मंदी और आर्थिक अनिश्चितता की मार झेल रही हो लेकिन ब्रिटेन से स्कॉच व्हिस्की की निर्यात तेज़ी से बढ़ रही है.

अमरीका के साथ-साथ दुनिया के उभरते बाज़ारों की वजह से ब्रिटेन से स्कॉच व्हिस्की के निर्यात में 22 फ़ीसद की तेज़ी दर्ज हुई है.

स्कॉच व्हिस्की एसोसिएशन (एसडब्लूए) की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक इस साल जनवरी से जून के बीच 1.8 अरब पाउंड का निर्यात किया गया, जबकि 2010 की इसी अवधि में 1.47 अरब पाउंड का निर्यात हुआ था.

स्कॉच व्हिस्की के आयात में अमरीका अभी भी सबसे ऊपर बना हुआ है, वहाँ यह आंकड़ा 26.8 करोड़ पाउंड तक पहुँच गया है. यह वृद्धि 14 फ़ीसदी है.

एसडब्लूए का कहना है कि एशिया और दक्षिण अमरीका में व्हिस्की के आयात में बहुत तेज़ वृद्धि दर्ज की गई है.

शौकीन लोगों का बढ़ता दायरा

इस साल के पहले छह महीने में ही केंद्रीय और दक्षिण अमरीका को निर्यात की गई व्हिस्की 21.44 करोड़ पाउंड थी. यह पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 49 फ़ीसदी अधिक है.

वहीं एशिया के बाज़ारों को होने वाला निर्यात 33 फ़ीसद बढ़कर 42.25 करोड़ पाउंड हो गई है.

ताइवन अब स्कॉच व्हिस्की के निर्यात के लिए पाँचवा सबसे बड़ा बाज़ार है. वहाँ अब 4.8 करोड़ पाउंड की जगह सात करोड़ पाउंड का निर्यात हो रहा है. वहीं ब्राज़ील को होने वाला निर्यात 56 फ़ीसद बढ़कर 4.48 करोड़ पाउंड पहुँच गया है.

इस तरह देखा जाए तो साल के पहले छह महीनों में स्कॉच व्हिस्की की 56.9 करोड़ बोतलों का निर्यात किया गया. जून के अंत तक इसमें 19 फ़ीसदी की वृद्धि दर्ज की गई थी.

एसडब्लूए का कहना है कि आर्थिक अनिश्चितता के कारण 2010 के अंत में आंकड़ों में कुछ नरमी नज़र आई. लेकिन उभरते बाज़ारों से बढ़ती माँग की वजह से उत्पादकों को कुछ बल मिला.

एसडब्लूए के प्रमुख गाविन हेविट का कहना है, "स्कॉच व्हिस्की की बढ़ती माँग को देखते हुए उसके निर्माता गर्व कर सकते हैं. ब्रिटेन के निर्यात बाज़ार में स्कॉच व्हिस्की का महत्वपूर्ण हिस्सा है. स्कॉटलैंड की सरकार के 2017 तक निर्यात में 50 फ़ीसदी तक की बढ़ोतरी करने की महत्वाकांक्षी योजना में हम काफ़ी योगदान कर रहे हैं."

गाविन हेविट कहते हैं कि दक्षिण कोरिया के साथ मुक्त व्यापार समझौता और भारत व तुर्की में स्कॉच व्हिस्की को मिल रही अच्छी क़ानूनी सुरक्षा की वजह से भविष्य में अच्छी वृद्धि की आशा है.

संबंधित समाचार