निर्णायक क़दम उठाएगा आईएमएफ

  • 25 सितंबर 2011

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने कहा है कि वो यूरोज़ोन ऋण संकट और वैश्विक आर्थिक संकट से निपटने के लिए निर्णायक क़दम उठाएगा.

संगठन ने शनिवार को एक बयान जारी करते हुए कहा कि वो इस संकट से निपटने के लिए उपलब्ध सारे संसाधनों की समीक्षा करेंगा.

बयान में कहा गया है कि यूरोज़ोन के देश भी यूरोप के ऋण संकट से निपटने के लिए ‘हरसंभव प्रयास’ करेंगे.

इस बयान के बाद ब्रिटेन के वित्त मंत्री जॉर्ज ओस्बोर्न ने साफ किया है कि ग्रीस के बारे में फिलहाल कोई योजना नहीं है.

जी-20 देशों के वित्त मंत्रियों की एक बैठक के दौरान यह बयान जारी किया गया है लेकिन आईएमएफ और विश्व बैंक ने बैठक में ये साफ नहीं किया है कि संकट से निपटने के लिए ये दोनों संगठन अतिरिक्त धन उपलब्ध कराएंगे.

आईएमएफ की प्रबंध निदेशक क्रिस्टीन लगार्ड संगठन की नीति नियामक पैनल में पेश किए गए एक्शन प्लान में कहा, ‘‘ हमारी ऋण देने की 400 अरब डॉलर की क्षमता आज के समय में बेहतरीन दिखती है लेकिन अगर हम ऋण संकट को देखें और इससे प्रभावित हो रहे देशों की ज़रुरतों को देखें तो ये राशि कुछ भी नहीं हैं.’’

दुनिया भर के शेयर मार्केटों में पिछले एक हफ्ते में खासी गिरावट देखी गई है. यूरोप के बड़े शेयर मार्केट यानी लंदन, पेरिस और फ्रैंकपुर्त के मार्केट इस हफ्ते चार प्रतिशत से अधिक गिरे हैं.

उधर ब्रिटेन के वित्त मंत्री ने कहा है कि यूरोज़ोन के सभी सदस्य ऋण संकट से निपटने के लिए निर्णायक क़दम उठाने पर राज़ी हुए हैं.

हालांकि उन्होंने साफ किया कि इस मुद्दे पर कोई योजना नहीं बनी है कि ग्रीस को अपनी ऋण अदायगी से छूट मिले.

आईएमएफ जैसा ही एक बयान जी-20 के देशों ने भी जारी किया है.

जी-20 का भी कहना है कि वो नवंबर की शुरुआत में साहसिक कार्रवाई करेंगे. लेकिन अभी ये साफ नहीं है कि इसके तहत क्या क़दम उठाए जाएंगे.

संबंधित समाचार