राहत पैकेज की उम्मीद से बाज़ार चढ़े

आईएमएफ़ इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption आईएमएफ़ की योजना के बाद यूरोपीय शेयर बाज़ारों में अच्छी प्रतिक्रिया दिखी

यूरोप के ऋण संकट से निबटने की अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष की तैयारियों की ख़बर के बाद यूरोपीय शेयर बाज़ारों में तेज़ी देखी गई है.

आईएमएफ़ के मुख्यालय से मिल रहे संकेतों के अनुसार संगठन एक बड़ी और महत्वाकाँक्षी योजना लाने जा रहा है जिसके तहत ग्रीस के आधे सरकारी घाटे को माफ़ करना और यूरोपीय संघ के लिए दो खरब यूरो की सहायता राशि देना शामिल होगा.

यूरोप में सरकारों को उम्मीद है कि ये योजना पाँछ से छह सप्ताह के भीतर लागू की जा सकेगी.

इस ख़बर के बाद यूरोप में दोपहर तक इतालवी शेयर बाज़ार में पाँच प्रतिशत और फ़्रांसीसी, जर्मन और स्पेन के शेयर बाज़ार में तीन-तीन प्रतिशत का उछाल आया.

तेल की क़ीमतें भी ऊपर चढ़ी हैं जबकि सोने की क़ीमतें लगातार गिर रही हैं.

संवाददाताओं के अनुसार बाज़ार ने इस ख़बर का स्वागत किया है जिसके तहत नीति निर्माता ऋण संकट का अब तक का सबसे व्यापक जवाब देने की तैयारी कर रहे हैं.

वैसे बीबीसी के बिज़नेस संपादक रॉबर्ट पेस्टन के अनुसार ग्रीस के आधे सरकारी घाटे को माफ़ करने जैसी किसी भी योजना को अमली जामा पहनाना बहुत ही कठिन होगा. लेकिन संवाददाताओं का कहना है कि यूरोप का सकंट गहराने का नतीजा एक और आर्थिक मंदी या उससे भी भयंकर हो सकता है.

इससे पहले ग्रीस के वित्त मंत्री इवांजेलोस वेनीज़ेलोस ने अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष के प्रमुख क्रिस्टीन लागार्ड ने बातचीत की थी. वेनीज़ेलोस ने कहा कि उनका देश भारी कटौतियों के बल पर सहायता राशि की शर्तों को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है.

इससे पहले रविवार को आईएमएफ़ ने ये चेतावनी भी दी थी कि अगर यूरोपीय देशों का ऋण संकट और गहराता है तो उसके इसे क़ाबू में लाने के लिए धन कम पड़ सकता है.

आईएमएफ़ प्रमुख क्रिस्टीन लागार्ड ने कहा कि उनकी संस्था मौजूदा प्रतिबद्धताओं को तो पूरा कर सकती है लेकिन अगर संकट गहराया तो दिक्कत पेश आ सकती है.

संबंधित समाचार