यूरोज़ोन की घोषणा से एशियाई बाज़ार उछले

कोस्पी इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption सेओल का सूचकांक 12 हफ़्ते में सबसे ऊपर और ऑस्ट्रेलियाई सूचकांक तीन महीने में सबसे ऊपर चढ़ा

ब्रसेल्स में यूरोज़ोन क़र्ज़ संकट के बारे में सहमति बनने की घोषणा के बाद एशिया और यूरोप के शेयर बाज़ारों में उछाल आया है.

जहाँ दक्षिण कोरिया का केस्पी पिछले 12 हफ़्तों के सबसे ऊँचे स्तर पर 1.46 प्रतिशत ऊपर बंद हुआ, वहीं ऑस्ट्रेलिया का शेयर बाज़ार ने पिछले तीन महीने में सबसे ज़्यादा 2.5 प्रतिशत का उछाल देखा.

टोक्यो मं 2.04 प्रतिशत, हॉंगकॉंग में 2.47 प्रतिशत और शेंघांई में 0.34 प्रतिशत का उछाल देखा गया.

भारत के मुंबई शेयर सूचकांक सेंसेक्स में भी उछाल आया और दोपहर तक वह लगभग 0.2 प्रतिशत ऊपर चल रहा था.

इससे पहले यूरोपीय संघ के देशों की क़र्ज़ संकट पर 10 घंटे तक चली अहम बैठक के बाद फ़ांस के राष्ट्रपति निकोला सार्कोज़ी ने कहा था, "मुझे प्रतीत होता है कि बैठक के इस नतीजे से पूरी दुनिया राहत की सांस लेगी. दुनिया को यूरोज़ोन से निर्णायक फ़ैसलों का इंतज़ार था और मुझे लगता है हमने वो फ़ैसले लिए हैं."

यूरोपीय बाज़ारों ने भी यूरोज़ोन के नेताओं की घोषणा पर सकारात्मक रवैया अपनाया है.

ब्रिटेन में शेयर 1.9 प्रतिशत चढ़े, फ़्रैंकफर्ट में शेयर 3.5 प्रतिशत ऊपर उठे और पेरिस में शेयर बाज़ार 2.5 प्रतिशत चढ़ा है.

ग़ौरतलब है कि इस साल यूरोज़ोन के क़र्ज़ संकट के कारण यूरोप और एशियाई बाज़ार ने कई बार गोता लगाया है.

यूरोज़ोन की घोषणा के बाद डॉलर के मुकाबले में यूरो का मूल्य 1.1 प्रतिशत बढ़ॉ जबकि पाऊंड के मुकाबले में यूरो 0.5 प्रतिशत बढ़ा.

संबंधित समाचार