मंदी की चपेट में आ रहा है यूरोज़ोन: ओईसीडी

  • 28 नवंबर 2011
कार इमेज कॉपीरइट AP
Image caption जर्मनी के सरकारी आकड़ों के मुताबिक़ देश के निर्यात में गिरावट आई है

दुनिया मे विकास और आर्थिक सहयोग की दिशा में काम करने वाली एक जाने माने संगठन के अनुसार यूरोप मंदी की चपेट में आ गया है.

ओर्गनाइजेशन फ़ॉर इकोनोमिक कोऑपरेशन और डेवलपमेंट (ओईसीडी) के नए अनुमानों की मानें तो यूरोज़ोन मंदी से घिर गया है.

ओईसीडी ने वैश्विक विकास के अपने अनुमान में भी कटौती की है.

ओईसीडी 1961 में स्थापित 30 देशों का संगठन है और इसका मुख्यालय फ़्रांस की राजधानी पेरिस में है.

संस्था की एक अनुमान के मुताबिक़ साल की अंतिम तिमाही तक ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था में 0.02 फ़ीसदी की गिरावट आएगी.

गिरावट

जबकि नए साल की पहली तिमाही में 0.14 फ़ीसदी की गिरावट का अनुमान लगाया जा रहा है.

यूरोज़ोन की अर्थव्यवस्था को बारे में ओइसीडी का अनुमान है कि साल की अंतिम तिमाही तक एक फ़ीसदी की गिरावट आएगी और नए साल की पहली तिमाही में 0.4 फ़ीसदी का अनुमान है.

ओइसीडी ने इस साल की वैश्विक अर्थव्यवस्था विकास दर का अनुमान 3.8 प्रतिशत लगाया है.

जबकि अगले साल के लिए 3.4 प्रतिशत के विकास दर का अनुमान लगाया गया है.

हालाँकि संस्था ने यह चेतावनी भी दी है कि यूरोज़ोन में किसी ‘अनहोनी’से वैश्विक अर्थव्यवस्था और भी ज़्यादा चरमरा सकती है.

संस्था का दावा है, “आम तौर पर वैश्विक अर्थव्यवस्था वैश्विक गतिविधियों से निर्धारित होता है.”

ऑर्गनाइजेशन फ़ॉर इकोनोमिक कोऑपरेशन और डेवलपमेंट में अमरीका, यूरोज़ोन और जापान शामिल है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार