धीमी पड़ी चीनी अर्थव्यवस्था की रफ़्तार

  • 17 जनवरी 2012
इमेज कॉपीरइट AFP

चीन से जारी हुए सरकारी आँकड़ों के मुताबिक वहाँ पिछले तीन महीनों में अर्थव्यवस्था की विकास दर पिछले दो सालों में सबसे कम रही है.

आँकड़े दर्शाते हैं कि पूरे साल की विकास दर 9.2 प्रतिशत थी जो 2010 में 10.3 रही थी.

दिसंबर से पहले तीन महीनों में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी)8.9 फ़ीसदी की दर से बढ़ा जबकि पिछली तिमाही में ये 9.1 फ़ीसदी था.

विशेषज्ञों के मुताबिक इस साल विकास दर और कम होने की आशंका है.

चीन विश्व की दूसरे सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है जो काफ़ी तेज़ी से आगे बढ़ती आई है. लेकिन अब प्रशासन चाहता है कि विकास दर भले ही थोड़ी कम तेज़ी से बढ़े पर टिकाउ हो.

नतीजन चीन ने उधारी कम कर दी है ताकि प्रॉपर्टी और निवेश बाजा़र में ज़रूर से ज़्यादा उछाल न आए.

अर्थव्यवस्था धीमी होने का एक कारण निर्यात में कमी भी बताई जा रही है क्योंकि यूरोप और अमरीका में आर्थिक संकट की वजह से माँग कम हो गई है.

चीन सरकार महंगाई को काबू करने में भी जुटी हुई है. लेकिन इसके बावजूद 2011 में घरेलू स्तर पर बिक्री बढ़ी है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार