7.1 फीसदी रहेगी भारत की विकास दर

  • 22 फरवरी 2012
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption सरकार ने 6.9 फीदसी के विकास दर का अनुमान किया है.

एक सरकारी सलाहकार समिति का कहना है वर्ष 2011-2012 में भारत की आर्थिक विकास दर 7.1 फीसदी रहेगी जबकि सरकारी आधिकारिक अनुमान 6.9 फीसदी का है.

पिछले तीन सालों में देश की अर्थव्यवस्था बेहद धीमी रफ्तार से बढ़ी है और मौजूदा वित्त वर्ष में वो अपने सबसे निचले स्तर पर रही है.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के आर्थिक सलाहकार परिषद के प्रमुख सी. रंगराजन की अध्यक्षता वाले पैनल का कहना है कि आनेवाले वित्त वर्ष में भारत की अर्थव्यवस्था में सुधार होगा.

समिति के मुताबिक वर्ष 2012-13 में भारतीय अर्थव्यवस्था में 7.5 फीसदी से 8.0 फीसदी की दर से विकास होने का अनुमान है.

यूरो जोन संकट

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption यूरो जोन के कर्ज संकट का असर भारतीय अर्थव्यवस्था पर पड़ा है.

समिति का कहना है कि यूरो जोन के कर्ज संकट, ऊंचे ब्याज दर और नीतिगत अपंगता की वजह से भारत की अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई है और देश में पूंजीगत निवेश पर बुरा असर पड़ा है.

समिति के प्रमुख सी. रंगराजन का कहना है,''आर्थिक विकास के किसी भी अनुमान के लिए मोटामोटी देश के बाहर के कठिन हालातों पर गौर करना भी जरूरी है.''

उन्होंने ये भी कहा कि साल 2008 के बाद से निवेश दर लगातार कम रही है.

सलाहकार मंडल का अनुमान है कि मौजूदा वित्त वर्ष में कृषि क्षेत्र की विकास दर तीन फीसदी रहेगी जबकि सरकारी अनुमान 2.5 फीसदी का है.

इसके साथ ही सरकारी पैनल ने निर्माण क्षेत्र में सरकारी अनुमान 4.8 फीसदी की जगह 6.2 फीसदी की दर से विस्तार होने का अनुमान लगाया है.

संबंधित समाचार