ओएनजीसी शेयरों की 12,666 करोड़ की बोली

  • 2 मार्च 2012
इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption सरकार के पास ओएनजीसी की 74.14 फीसदी हिस्सेदारी है

ओएनजीसी में सरकार की पांच फीसदी हिस्सेदारी के विनिवेश के लिए हुई नीलामी में करीब 12,666 करोड़ रुपए की बोली लगी.

समाचार ऐजेंसी पीटीआई के मुताबिक वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने इसे ऐतिहासिक सफलता बताया है. नीलामी की प्रक्रिया के बाद उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि सरकार ने इसके जरिए 12,666 करोड़ रुपए जुटा लिए हैं.

कंपनी का लक्ष्य विनिवेश में 12,000 करोड़ रुपए तक की बोली लगने का था.

सरकार ने 42.77 करोड़ के शेयर बेचने का प्रस्ताव रखा था, जिसके तहत 290 रुपए प्रति शेयर 290 रुपए का दाम निर्धारित किया गया था.

कुल बोली करीब 12,666 करोड़ रुपए के लिए लगी और यह कुल पेशकश का 98 .3 फीसदी हिस्सा है.

लक्ष्य

सरकार ने एक दिन की नीलामी के जरिए शेयर बिक्री के लिए 290 रुपए का न्यूनतम मूल्य तय किया था और इसके जरिए 12,000-13,000 करोड़ रुपए जुटाने का लक्ष्य रखा गया था.

शुरूआत में बोली प्रक्रिया कमजोर रही और पहले घंटे में सिर्फ 37,500 शेयरों की बोली लगी.

करीब एक फीसदी की शुरूआती बढ़त के बाद ओएनजीसी के शेयरों में कमजोरी आ गई थी.

ओएनजीसी का शेयर बंबई स्टाक एक्सचेंज में 1.87 फीसदी लुढ़क कर 287.85 रुपए पर बंद हुआ.

सरकार ने मंगलवार को ओएनजीसी की अपनी पांच फीसदी हिस्सेदारी नीलामी के जरिए बेचने का फैसला लिया था.

इस प्रक्रिया से 12,000 से 13,000 करोड़ रुपए जुटाए जाने की उम्मीद थी. सरकार के पास ओएनजीसी की 74.14 फीसदी हिस्सेदारी है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार