'नहीं बंद हो रही किंगफिशर'

KINGFISHER इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption किंगफिशर ने पायलटों से हड़ताल पर ना जाने की गुजारिश है.

किंगफिशर एयरलाइंस ने रविवार को इन अटकलों का खंडन किया कि वो अपनी तमाम हवाई सेवाएं बंद कर रहा है.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक किंगफिशर एयरलाइंस के मुख्य कार्यकर्ता संजय अग्रवाल ने पायलटों से मुलाकात की और उनसे हड़ताल पर ना जाने की गुजारिश की है.

समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक किंगफिशर के प्रवक्ता प्रकाश मीरपुरी ने एक बयान में कहा, "संजय अग्रवाल ने पायलटों के एक दल से मुलाकात की और उनसे अपील की कि वे उड़ानों से दूर न रहें जिससे सेवा में बाधा न पंहुचे."

किंगफिशर ने मीडिया के उन अटकलों को भी गलत कहा जिसके मुताबिक उसने पायलटों को चेतावनी दी थी कि वो उड़ान की सभी सेवाएं बंद कर सकता है.

मीरपुरी ने कहा, "हमने कभी भी ऐसा इशारा नहीं किया कि किंगफिशर एयरलाइंस बंद हो जाएगी. हमारी उड़ानें समय सारिणी के हिसाब से चल रही हैं."

इससे पहले किंगफिशर के चेयरमैन विजय माल्या ने कहा कि वो एयरलाइन के बंद होने से रोकने के लिए धनराशि जुटाने की कोशिश कर रहे हैं.

भारी कर्ज

वैसे बैंकों पर किंगफिशर का कई करोड़ रुपये बकाया हैं. किंगफिशर पर करीब 7,057 करोड़ रुपये का कर्ज है.

बयान में किंगफिशर ने कहा, "हम टैक्स अधिकारियों के साथ सहयोग करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं और अपने बैंक अकाउंटों को दुबारा चालू करवाने की कोशिश कर रहे हैं जिससे सामान्य व्यवस्था लागू की जा सके और कर्मचारियों के वेतन का भुगतान किया जा सके."

किंगफिशर को वित्तीय वर्ष 2010-11 में 1,027 करोड़ रुपये का घाटा सहना पड़ा है. जबकि पिछली तिमाही में ही उसे 444 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ.

इससे पहले नागरिक उड्डयन मंत्री अजित सिंह ने कहा था कि किंगफिशर के साथ-साथ किसी भी निजी एयरलाइन को सरकार आर्थिक मदद नहीं दे सकती.

साथ ही उन्होंने शुक्रवार को कहा था कि किंगफिशर का लाइसैंस भी कुछ समय के लिए रद्द किया जा सकता है.

संबंधित समाचार