भारत: कपास निर्यात पर रोक

फाइल फोटो इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption विदेश व्यापार महानिदेशालय ने अगले आदेश तक कपास निर्यात पर रोक लगा दी है

भारत सरकार का कहना है कि कपास की पैदावार में कमी के मद्देनजर कपास निर्यात पर तत्काल प्रभाव से रोक लगा दी गई है.

कई राज्यों में कपास की फसलों को नुकसान पहुंचा है.

चीन से बढ़ी मांग की वजह से भारत से निर्यात पिछले दिनों उम्मीद से ज्यादा बढ़ गया है.

भारत से निर्यात हुए कपास का 80 प्रतिशत चीन जाता है. उधर भारत का टेक्सटाइल उद्योग कपास की इस कमीं और ऊंची कीमतों को लेकर चिंतित है.

चीन के बाद, भारत कपास उत्पादन में और निर्यात में विश्व में दूसरे स्थान पर है.

विश्लेषकों का कहना है कि सरकार के इस कदम से दुनियाभर में कपास की आपूर्ति कम होगी और उसकी कीमतों में बढोतरी होगी.

विदेश व्यापार महानिदेशालय से जारी एक बयान में कहा गया है, ''अगले आदेश तक कपास के निर्यात पर रोक लगा दी गई है और अब किसी को निर्यात की अनुमति नहीं दी जाएगी.''

कॉटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष धीरेन सेठ ने सरकार के इस फैसले से असहमति जताई है. उन्होंने कहा है, ''ये एक बेहद बुरा फैसला है. इससे अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारत की प्रतिष्ठा को धक्का पहुंचेगा और इसके दीर्घकालीन असर होंगे.''

संबंधित समाचार