यूरोजोन के बाद भारतीय शेयर बाजार भी गिरा

  • 7 मई 2012
इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption भारतीय शेयर बाजारों पर यूरोजोन के शेयर बाजारों का असर दिखा है.

फ्रांस और ग्रीस के चुनाव परिणामों का असर पहले यूरोजोन के बाजारों पर और फिर भारत के शेयर बाजारों पर पड़ा है.

भारत के बंबई स्टॉक एक्सचेंज में गिरावट का दौर लगातार जारी है और सोमवार को लगातार चौथे दिन बाजार बुरी तरह गिरे हैं.

सोमवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज खुलने के साथ ही 290 अंक गिर गया है.

बंबई शेयर बाजार पिछले हफ्ते 488 अंक गिर चुका है और सोमवार को बाजार 16,541 पर खुला था.

निफ्टी में भी गिरावट का दौर थमा नहीं है और सोमवार को इसमें 91 अंकों की बड़ी गिरावट हुई और ये पांच हज़ार से नीचे आ गया.

स्टॉक ब्रोकरों का कहना है कि अन्य एशियाई बाजारों की मजबूती खतरे में है जिसका असर भारतीय बाजारों पर दिख रहा है.

उल्लेखनीय है कि फ्रांस और ग्रीस में चुनाव नतीजों के बाद यूरोजोन में भी स्टाक बाजार गिरे हैं और इसी का असर एशियाई बाजारों पर हुआ है.

माना जा रहा है कि दोनों देशों में सोशलिस्ट दलों की जीत के बाद ये पक्का नहीं है कि कटौती के जिन प्रस्तावों पर काम चल रहा था वो चलता रहेगा या नहीं.

इसी कारण बाजार बुरी तरह गिरे हैं. ग्रीस का शेयर बाज़ार सात प्रतिशत नीचे गिर चुका है जबकि जर्मन इंडेक्स में दो प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है.

एशियाई बाजार में हांग कांग का सेंसेक्स हांगसांग 2.40 प्रतिशत गिर गया है जबकि जापान के निकेई में 2.60 प्रतिशत की गिरावट हुई है.

शेयर बाजार के गिरने के दौर में रुपए की हालत खस्ता हो रही है.

सोमवार की सुबह व्यवसाय के दौरान रुपए की कीमत गिरी लेकिन फिर उसके बाद थोड़ी संभली है.

रुपए एक समय प्रति डॉलर 53.63 पैसे के स्तर पर चला गया था लेकिन फिर यह 53.39 के स्तर पर आकर रुक गया.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार