ग्रीस-स्पेन पर बाजार चिंतित, रुपया गिरा, सोना चढ़ा

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption जी-8 सम्मेलन में अमरीका में ग्रीस और स्पेन की स्थिति पर चर्चा होगी

ग्रीस में राजनीतिक अनिश्चितता और स्पेन में दोबारा आर्थिक मंदी छा जाने की खबरों से बाजारों में लगातार खलबली मची हुई है. एशिया और यूरोप के बाजारों में गिरावट का दौर है.

उधर भारत में यूरो संबंधी अनिश्चितताओं के बीच रुपए की कीमत में लगातार गिरावट आ रही है और शुक्रवार को डॉलर के खिलाफ यह फिर निचले रिकॉर्ड स्तर 54.82 पर पहुँच गया.

दूसरी ओर सोने की कीमत दुनिया भर में बढ़ रही है क्योंकि निवेशक इस अनिश्चितता के दौर में सोना खरीदने को बेहतर निवेश मान रहे हैं.

जहाँ लंदन में सोना 0.9 प्रतिशत चढ़ा और प्रति आउंस लगभग 1588 डॉलर पर पहुँच गया, वहीं भारत में इसमें दस ग्राम के पीछे 700 रुपए की वृद्धी हुई और इसकी कीमत 29,180 रुपए पर पहुँच गई.

लंदन में ब्रेंट कच्चा तेल इस साल के सबसे निचले स्तर 106.4 डॉलर प्रति बैरल पर पहुँच गया.

जी-8 सम्मेलन, स्पेन पर नजर

स्पेन और ग्रीस की आर्थिक चुनौतियों पर इस सप्ताह के अंत में अमरीका में जी-8 का सम्मेलन होना है जिसमें बराक ओबामा ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, इटली, रूस, जापान, कनाडा और यूरोपीय संघ के नेताओं से मिलेंगे.

डच बैंक ने अपनी एक शोध रिपोर्ट में कहा, "कैंप डेविड में जी-8 की बैठक में यूरोजोन के राजनीतिक नेताओं पर तत्काल निर्णायक कदम उठाने का दबाव डाला जाएगा ताकि पूरा क्षेत्र इस समस्या से तहस-नहस न हो जाए. बैठक से ये स्पष्ट हो या न हो कि यूरोजोन के राजनीतिक नेता ग्रीस के यूरो से बाहर जाने पर सहमत होंगे या नहीं लेकिन इससे स्पेन को समस्या के गिरफ्त से बचाने पर चर्चा जरूर होगी."

शुक्रवार को ग्रीस और स्पेन की चिंताओं के बीच यूरोपीय शेयर बाजारों में गिरावट का दौर रहा.

इमेज कॉपीरइट Getty Images
Image caption जापान के निक्केई में तीन प्रतिशत की गिरावट दर्ज हुई

क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडी के 16 स्पेनी बैंकों की रेटिंग घटाने के बाद यूरोपीय बैंकों में भरोसा घटा है. इसका एक कारण रहा है मार्च तक बैंकों के उन कर्जों का 8.37 प्रतिशत तक पहुँचना जिनकी लौटाए जाने की कोई संभावना नहीं है.

स्पेन के वित्त मंत्री इनिगो फर्नांडेज दी मेसा ने बीबीसी को बताया, "मैं इस स्थिति की कल्पना ही नहीं कर सकता. स्पेन के बैंकों के पास काफी पैसा है. अगले दो सालों तक उन्हें स्पेन के केंद्रीय बैंक से पैसा दिया गया है. इसलिए स्पेन में पैसा की कोई कमी नहीं है."

एशियाई बाजारों में भारी गिरावट और नुकसान दर्ज हुए. जापान का निक्केई तीन प्रतिशत गिरा जो पिछले अगस्त के बाद एक दिन में सबसे अधिक गिरावट थी.

डाओ जोन्स के एक प्रतिशत गिरने का असर भी एशियाई बाजारों पर पड़ा. साथ ही अमरीकी अर्थव्यवस्था पर निवेश संबंधी दो नकारात्मक रिपोर्टें आई हैं जिनसे बाजार और हतोत्साहित हुआ है.

संबंधित समाचार