रिजर्व बैंक कर रहा है प्रयासः प्रणब

  • 27 मई 2012
इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption मार्च से लेकर अब तक डॉलर के मुकाबले रूपए की कीमत में 13 प्रतिशत की गिरावट हो चुकी है

केंद्रीय वित्तमंत्री प्रणब मुखर्जी ने कहा है कि रिज़र्व बैंक भारतीय रूपए के मूल्य में आई तेज़ गिरावट को नियंत्रित करने के लिए कदम उठा रहा है.

प्रणब मुखर्जी ने कोलकाता में कहा कि रूपए का मूल्य कई घरेलू और वैश्विक कारणों से गिरा है.

उन्होंने कहा कि बाजार में माँग और आपूर्ति की शक्तियाँ सक्रिय हैं और अमरीका में अत्यधिक निवेश हो रहा है.

वित्तमंत्री ने साथ ही कहा,”यूरोप निर्यात का एक अच्छा लक्ष्य होता था मगर वहाँ अभी माँग को लेकर अनिश्चय है.”

उन्होंने साथ ही जोड़ा कि तेल की कीमतों का बढ़ना जारी रहने के बीच अभी वैश्विक अर्थव्यवस्था में सुधार कमज़ोर स्थिति में है.

प्रणब मुखर्जी ने कहा,“इन सभी कारणों के सामूहिक प्रभाव के कारण रूपए की कीमत गिरती जा रही है.”

वित्तमंत्री ने रिजर्व बैंक के इस दिशा में प्रयास की बात ऐसे समय की है जब बैंक पहले ही ये संकेत दे चुका है कि वो रूपए पर दबाव को कम करने के लिए तेल कंपनियों को सीधे डॉलर बेच सकता है.

बैंक ने पहले ही विदेशी मुद्रा बाज़ार में सट्टेबाज़ी पर रोक लगाने के लिए कदम उठाए हैं.

डॉलर के मुकाबले रूपए की कीमत में मार्च से लेकर अब तक 13 प्रतिशत की गिरावट हुई है.

पिछले सप्ताह गुरूवार को एक डॉलर 56.38 रूपए के बराबर हो गया था जो अभी तक रूपए का न्यूनतम मूल्य है.

शुक्रवार को रिजर्व बैंक के हस्तक्षेप के बाद रूपए में 27 पैसे का सुधार हुआ और कारोबार खत्म होने के समय एक डॉलर की कीमत 55.37 रूपए दर्ज की गई.

संबंधित समाचार