स्पेन को बेलआउट पैकेज से बाजारों में रौनक

  • 11 जून 2012
इमेज कॉपीरइट AP
Image caption स्पेन को मिले सौ अरब यूरो की सहायता से स्पेन को तात्कालिक रुप से राहत मिल सकती है

यूरोप और एशिया के बाजारों में यूरोजोन द्वारा स्पेन को आर्थिक मदद दिए जाने के फैसले का असर दिखा. सोमवार दोपहर तक भारतीय बाजार के संवेदी सूचकांक यानि कि सेंसेक्स और एनएसई में एक फीसदी से थोड़ा कम प्वाइंट आठ फीसदी की बढ़ोतरी हुई. लेकिन जब भारतीय बाजार बंद हुआ तो उसमें प्वाइंट अठ्ठाइस फीसदी की गिरावट थी. अर्थात सोमवार को बाजार 16,668 अंक पर बंद हुआ.

इसी तरह लंदन स्टॉक एक्सचेंज में एक प्वाइंट सात फीसदी, फ्रैंकफुट के स्टॉक एक्सचेंज में दो प्वाइंट तीन फीसदी, यूरोप के बाजार पेरिस में एक प्वाइंट आठ फीसदी का उछाल था.

स्पेन को मिले आर्थिक मदद का असर भी सबसे अधिक स्पेन के बाजार में ही दिखा. स्पेन का मैर्डिड स्टॉक एक्सचेंज में यह उछाल साढ़े चार फीसदी था.

पिछले शनिवार को स्पेन को 100 अरब यूरो की सहायता का ऐलान किया गया था.

यूरो को भी फायदा

यूरोपीय देशों की सांझा मुद्रा यूरो की कीमत में अमरीकी डॉलर के मुकाबले एक फीसदी से अधिक की बढ़ोतरी देखी गई.

इससे पहले टोक्यो का स्टॉक एक्सचेंज दो फीसदी पर बंद हुआ.

जबकि प्रतिभूति बाजार (बांड मार्केट) में दस साल के बांड में छह फीसदी की गिरावट दर्ज की गई थी.

वैसे स्पेन को आपातकालीन राशि की पूरी रकम कुछ दिनों के बाद बैंकों का दो ऑडिट किए जाने के बाद ही मिलेगें. स्पेन को ये आर्थिक सहायता, प्रापर्टी कर के भुगतान ना होने से त्रस्त बैंकों की मदद के लिए दी गई है.

वैसे हारग्रीव्स लैंसडॉउन के स्टॉकब्रोकर रिचर्ड हंटर का कहना है, “स्पेन को दिए गए राहत से यूरोजोन संकट का समाधान नहीं हो सकता है. बस यह इसका बयान करता है कि संकट काफी गहरा है. स्पेन को इससे कुछ और दिनों का समय मिल गया है, इससे बाजार को संभलने में राहत मिल सकती है.”

स्पेन तीन साल में दूसरी बार आर्थिक मंदी का शिकार हुआ है और आशंका है कि वहां का आर्थिक दर एक प्वाइंट सात फीसदी और गिरेगा.

संबंधित समाचार