कीमतें 'फिक्स' कर रहीं थीं सीमेंट कंपनियाँ

  • 22 जून 2012
सीमेंट का एक गोदाम इमेज कॉपीरइट BBC World Service
Image caption आरोप है कि सीमेंट कंपनियाँ बाजार में आपूर्ति घटाकर कीमतें बढ़ा रही थीं

भारत में प्रतिस्पर्धा आयोग ने एसीसी और अंबूजा सीमेंट सहित कुल 11 सीमेंट कंपनियों पर षडयंत्र पूर्वक क़ीमतें तय करने के आरोप में जुर्माना लगाया है.

इन कंपनियों पर प्रतिस्पर्धा आयोग ने 60 अरब रुपए का साझा जुर्माना किया है.

आयोग ने पाया कि इन कंपनियों ने बाजार में आपूर्ति को 'सीमित' कर रखा था और कीमतें एक 'गैर-प्रतिस्पर्धात्मक समझौते' के तहत तय की जा रहीं थीं.

हालांकि कुछ कंपनियों ने इन आरोपों को गलत बताया है और कहा है कि वे इसे चुनौती देंगे.

अपने बयान में प्रतिस्पर्धात्मक आयोग ने कहा है, "आयोग ने पाया कि ये कंपनियाँ अपनी पूरी उत्पादन क्षमता का उपयोग नहीं कर रहीं हैं और मांग ज़्यादा होने का बहाना बनाकर कीमतें बढ़ा रही हैं."

आयोग ने इन कंपनियों को जुर्माना अदा करने के लिए 90 दिनों का समय दिया है.

प्रतिस्पर्धा आयोग बाजार में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा सुनिश्चित करने वाली निगरानी संस्था है.

संबंधित समाचार