क्रेडिट कार्ड की जानकारी बेचने वालों पर एफबीआई का शिकंजा

क्रेडिट कार्ड इमेज कॉपीरइट none
Image caption इन कथित अपराधियों को अमरीका, एशिया, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में पाया गया है.

गैर-कानूनी तरीके से क्रेडिट कार्ड की जानकारी बेचने वालों पर शिकंजा कसते हुए अमरीका के नेतृत्व में 13 देशों में किए गए एक स्टिंग ऑप्रेशन में 24 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

यह कदम चार महाद्वीपों के कई देशों में दो साल चली एफबीआई की जांच के बाद उठाया गया है.

'ऑप्रेशन कार्ड शॉप' नाम के इस ऑप्रेशन में एफबीआई के जाली ऑनलाईन फोरम की मदद से उन लोगों तक पहुँचा गया जो ऐसी जानकारी खरीदते या बेचते थे.

इनमें से 12 गिरफ्तारियां अमरीका में हुई हैं जबकि छह लोग ब्रिटेन में पकड़े गए हैं.

इन सभी की उम्र 18 से 25 साल के बीच है. यदि ये लोग धोखाधड़ी से जुड़े जुर्मों के दोषी पाए जाते हैं तो कुछ को 40 साल तक की सजा का सामना करना पड़ सकता है.

इनमें से एक मीर इस्लाम को ऑनलाईन पर 'जोश द गॉड' के नाम से जाना जाता है और उनके खिलाफ 50,000 चोरी के नंबरों की खरीद करने का आरोप लगाया गया है.

कुल मिलाकर जांचकर्ताओं ने क्रेडिट कार्ड देने वालों को चार लाख से अधिक चोरी किए गए खातों के बारे में अवगत कराया.

अमरीका के अधिकारियों ने कहा कि इस ऑप्रेशन से 20.5 करोड़ डॉलर का नुक्सान होने से बच गया है.

जांचकर्ताओं ने इन कथित अपराधियों को अमरीका, एशिया, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया में पकड़ा है.

एक बयान में अमरीका के अटॉर्नी प्रीत भरारा ने कहा, ''कानून के लंबे हाथ इंटरनेट के परदे के पीछे छुपे कंप्यूटर के चालाक अपराधियों तक पहुंच सकते हैं.''

संबंधित समाचार