एक तिहाई बैंकिंग मुनाफा चीन के खाते में

  • 2 जुलाई 2012
Image caption चीन का आईसीबीसी बैंक मुनाफा कमाने के मामले में सबसे ऊपर है.

एक ताजा सर्वे में पता चला है कि दुनिया भर में बैंकिंग सेक्टर का एक तिहाई मुनाफा चीन के खाते में जा रहा है. तीन सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाले बैंक चीन के ही हैं.

'बैंकर' पत्रिका के सालाना सर्वे के मुताबिक पांच साल पहले वैश्विक बैंकिंग मुनाफे में चीन के बैकों की हिस्सेदारी महज चार फीसदी थी जो पिछले साल बढ़ कर 29 प्रतिशत तक जा पहुंची है.

वहीं यूरोपीय बैंकों के हिस्से में पिछले साल सिर्फ छह फीसदी मुनाफा आया है, जबकि पांच साल पहले उनकी ये हिस्सेदारी 46 प्रतिशत हुआ करती थी.

पत्रिका के संपादक ब्रायन कैपलेन के मुताबिक यूरोप को हो रहा नुकसान मुनाफा बन कर चीन के हिस्से में जा रहा है.

मुनाफे के मामले में चीन के 'द इंडस्ट्रियल एंड कॉमर्शियल बैंक ऑफ चाइना' (आईसीबीसी) को सबसे ऊपर रखा गया है, जबकि सबसे खराब प्रदर्शन करने वाले 25 बैंकों में एक को छोड़ कर सभी बैंक यूरोप के हैं.

नफा और नुकसान

इमेज कॉपीरइट other
Image caption यूरोप के कई देश इन दिनों गंभीर कर्ज संकट से जूझ रहे हैं.

बैंकर के मुताबिक आईसीबीसी कर की रकम घटाए बिना 43.2 अरब डॉलर की कमाई के साथ लगातार दूसरे साल सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाला बैंक बना हुआ है.

इस फेहरिस्त में दूसरे स्थान पर 34.8 अरब डॉलर के मुनाफे के साथ 'चाइन कंस्ट्रक्शन बैंक' है जबकि तीसरे पायदान पर 26.8 अरब डॉलर की कमाई के साथ 'बैंक ऑफ चाइना' है.

जेपी मॉर्गन को 26.7 अरब डॉलर के मुनाफे के साथ चौथा स्थान मिला है जबकि एचएसबीसी 21.9 अरब डॉलर के मुनाफे के साथ यूरोप का सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाला बैंक है.

पत्रिका की ओर से तैयार की गई 1000 बैंकों की सूची में 'बैंक ऑफ अमेरिका' दूसरे साल सबसे ऊपर है. इस सूची में बैंकों को उनकी मूल पूंजी के आधार पर कर्ज देने और उथल पुथल को सहने की क्षमता के अनुसार रेटिंग दी गई है. इस सूची में जेपी मॉर्गन को दूसरा स्थान मिला है जबकि चीन के चार बैंक पहली बार टॉप 10 की सूची में आए हैं.

'नेशनल बैंक ऑफ ग्रीस' को पिछले साल सबसे ज्यादा 17.4 अरब डॉलर का घाटा उठाना पड़ा. इसके बाद बेल्जियम के डेक्सिया की बारी आती है.

संबंधित समाचार