आरबीआई के ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं

इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption रिजर्व बैंक ने मंगलवार को मौद्रिक नीति जारी की.

भारतीय रिजर्व बैंक यानी आरबीआई ने अपनी तिमाही मौद्रिक नीति की समीक्षा के बाद ब्याज दरों में कोई बदलाव न करने का फैसला किया है.

आरबीआई ने रेपो दर और रिवर्स रेपो दर में कोई बदलाव नहीं किया है. रेपो दर आठ प्रतिशत पर बरकरार है, जबकि रिवर्स रेपो दर को भी सात प्रतिशत पर बनाए रखा गया है.

रेपो दर वह ब्याज दर है जिस पर कोई कारोबारी बैंक आरबीआई से छोटी अवधि के कर्ज लेता है. जबकि रिवर्स रेपो दर वह ब्याज दर है बैंकों को आरबीआई के पास अपना पैसा जमा रखने पर मिलता है.

सीआरआर

आरबीआई ने नकद आरक्षण अनुपात यानी सीआरआर में भी कोई बदलाव नहीं किया है. अर्थात सीआरआर भी 4.75 प्रतिशत पर फिलहाल बनी रहेगी.

हालांकि बैंकिंग क्षेत्र में नकदी बढ़ाने के लिए आरबीआई ने वैधानिक तरलता अनुपात यानी एसएलआर को 24 प्रतिशत से घटाकर 23 प्रतिशत कर दिया है.

अपनी पिछली तिमाही समीक्षा में भी आरबीआई ने मौद्रिक दरों में कोई बदलाव नहीं किया था.

आरबीआई ने कारोबारी साल 2012-13 में महँगाई दर का अनुमान 6.5 प्रतिशत से बढ़ाकर सात प्रतिशत कर दिया है.

कारोबारी साल 2012-13 में विकास दर का अनुमान 7.3% से घटाकर 6.5% कर दिया गया है.

हालांकि अर्थव्यवस्था में गतिविधियां बढ़ाने के लिये नीतिगत दरों में कटौती को जरुरी माना जा रहा था. यही नहीं, उद्योग जगत भी रिजर्व बैंक से ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद लगाए बैठा था.

संबंधित समाचार