चीन में टाटा की दो नई कारें

जगुआर लैंड रोवर
Image caption कंपनी की कारें यूरोप में खासी लोकप्रिय हैं

ब्रिटेन की लग्ज़री कार कंपनी जगुआर लैंड रोवर ने चीन में संयंत्र लगाकर अपने दो नए मॉडल बनाने की घोषणा की है.

ब्रिटेन के बाहर कंपनी का ये अपनी तरह का पहला निर्माण संयंत्र होगा.

टाटा मोटर्स ने वर्ष 2008 में ब्रिटिश कार निर्माता कंपनी लैंड रोवर का अधिग्रहण किया था.

कंपनी ने शंघाई के उत्तर में इसके लिए जगह भी तलाश कर ली है. हालांकि चीन की सरकार से इस योजना को अंतिम मंजूरी मिलना अभी बाकी है.

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉक्टर राल्फ स्पेथ ने बीबीसी को बताया, ''हम फ्रीलैंडर या इवोक के साथ इसकी शुरूआत करेंगे.''

उन्होंने इस बात की भी पुष्टि की है कि रेंज रोवर और रेंज रोवर स्पोर्ट्स जैसे मॉडल कहीं बाहर बनाने की संभावना नहीं है.

उन्होंने कहा, ''जटिल क़िस्म के उत्पादों के निर्माण के लिए हम हमेशा ब्रिटेन में ही रहेंगे.''

ब्रिटेन में नौकरियों पर खतरा नहीं

फ्रीलैंडर को भारत के पुणे शहर में स्थापित संयंत्र में एसेम्बल किया जाता है.

इसके लिए जरूरी कल-पुर्जे ब्रिटेन से ही आते हैं.

इसी तरह लैंड रोवर डिफेंडर, केन्या समेत दुनिया के कई हिस्सों में एसेम्बल की जाती है.

लेकिन शंघाई का प्रस्तावित संयंत्र विदेशों में कंपनी का सही मायने में पहला निर्माण संयंत्र होगा और इसमें चीनी कल-पुर्जों का इस्तेमाल किया जाएगा.

कंपनी ने आश्वासन दिया है कि विदेशों में उसके विस्तार की वजह से ब्रिटेन में रोजगार का कोई खतरा पैदा नहीं होगा.

कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉक्टर राल्फ स्पेथ ने बीबीसी को बताया, ''हम अपना उत्पादन बढ़ा रहे हैं. ब्रिटेन में उत्पादन घटा नहीं रहे हैं, बल्कि इसका इस्तेमाल दुनिया भर में अपना कारोबार फैलाने में कर रहे हैं.''

जगुआर लैंड रोवर ने चीन में अपने दो नए मॉडल बनाने की घोषणा ठीक उसी दिन किया जिस दिन उसने लंदन में रेंज रोवर का नया मॉडल पेश किया.

कंपनी सऊदी अरब, ब्राजील, भारत और रूस में भी निर्माण संयंत्र स्थापित करने पर गंभीरता से विचार कर रही है.

जगुआर लैंड रोवर की 40 प्रतिशत कारें यूरोप में बिकती हैं जहां मंदी का असर हो सकता है, लेकिन कंपनी अपने भविष्य को लेकर आश्वस्त है.

इसके अलावा कंपनी ने घोषणा की है कि नई कार के निर्माण के लिए वह बर्मिंघम के सॉलीहुल में सैंतीस करोड़ पाउंड का निवेश करेगी.

संबंधित समाचार