BBCHindi.com
अँग्रेज़ी- दक्षिण एशिया
उर्दू
बंगाली
नेपाली
तमिल
 
सोमवार, 12 सितंबर, 2005 को 20:46 GMT तक के समाचार
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
ईबे इंटरनेट कंपनी स्काइप को ख़रीदेगी
 
ईबे
अब गूगल, माइक्रोसॉफ़्ट, याहू और एओएल के लिए बड़ी चुनौती पैदा हो सकती है
ऑनलाइन ख़रीद-बिक्री की सबसे बड़ी कंपनी ईबे ने इंटरनेट टेलीफ़ोन कंपनी स्काइप टेक्नॉलॉजी को ख़रीदने का फ़ैसला किया है.

यह सौदा 2.6 अरब डॉलर में तय हुआ है. ईबे ने कहा है कि वह कुल रकम का आधा हिस्सा नक़द देगा और बाक़ी राशि शेयरों के ज़रिए दी जाएगी.

इस सौदे के बाद एक ऐसी कंपनी तैयार हो जाएगी जो "ईकॉमर्स और व्यापारिक संचार'' के क्षेत्र की सबसे अनूठी कंपनी होगी.

स्काइप दो कंप्यूटरों के बीच मुफ़्त टेलीफ़ोन कॉल करने की सुविधा प्रदान करता है. यह कंपनी बहुत सस्ती दर पर मोबाइल और आम फ़ोन पर बात करने की सुविधा देती है.

गूगल, माइक्रोसॉफ़्ट, याहू और एओएल भी ऐसी ही सुविधाएँ उपलब्ध कराते हैं, अब यह नई कंपनी उनके लिए कड़ी चुनौती पेश कर सकती है.

कई सौदे

गूगल ने पिछले ही दिनों अपनी टॉक सर्विस शुरू की है जबकि माइक्रोसॉफ़्ट ने टेल्को नाम की एक बड़ी दूरसंचार कंपनी को ख़रीदा है.

 संचार ईकॉमर्स के केंद्र में है, इन दो कंपनियों के एक साथ आ जाने से इंटरनेट पर बातचीत और कारोबार का एक अनूठा संगम बन जाएगा
 
ईबे के मुख्य कार्यकारी

स्काइप का सॉफ़्टवेयर टेलीफ़ोन सिग्नलों को कंप्यूटर डेटा में बदल देता है और फिर इंटरनेट की स्ट्रीमिंग के ज़रिए दूसरे कंप्यूटर तक पहुँचाता है.

ईबे के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मेग विटमैन ने कहा, "संचार ईकॉमर्स के केंद्र में है, इन दो कंपनियों के एक साथ आ जाने से इंटरनेट पर बातचीत और कारोबार का एक अनूठा संगम बन जाएगा. "

कंपनी का कहना है कि इससे ईबे की बाज़ार पर पकड़ मज़बूत होगी और वह दूसरे क्षेत्रों में पाँव पसार सकेगी.

स्काइप के प्रमुख निकलस ज़ेनस्ट्रॉम अब नए कंपनी के शीर्ष अधिकारियों में होंगे, उनका कहना है कि "इससे कंप्यूटर के ज़रिए बातचीत और सौदे करने के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आ सकते हैं."

कई कंपनियाँ अपने ग्राहकों को कंप्यूटर में आम फ़ोन लाइन को जोड़कर इंटरनेट के ज़रिए कॉल करने का विकल्प उपलब्ध कराती हैं, इस तरह किए जाने वाले टेलीफ़ोन कॉल आम टेलीफ़ोन दरों से बहुत सस्ते होते हैं.

स्काइप के कुल पाँच करोड़ से अधिक रजिस्टर्ड ग्राहक हैं और कंपनी का कहना है कि हर वक़्त कम से 20 लाख लोग उनके सॉफ़्टवेयर का इस्तेमाल कर रहे होते हैं.

ईबे ने ऐसी कंपनियों को ख़रीदने का अभियान सा चला रखा है जिनके ज़रिए वह अपने पोर्टल पर ग्राहकों को अधिक से अधिक सुविधाएँ देकर प्रतियोगिता में आगे बना रहे.

 
 
इससे जुड़ी ख़बरें
 
 
इंटरनेट लिंक्स
 
बीबीसी बाहरी वेबसाइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है.
 
सुर्ख़ियो में
 
 
मित्र को भेजें कहानी छापें
 
  मौसम |हम कौन हैं | हमारा पता | गोपनीयता | मदद चाहिए
 
BBC Copyright Logo ^^ वापस ऊपर चलें
 
  पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल की दुनिया | मनोरंजन एक्सप्रेस | आपकी राय | कुछ और जानिए
 
  BBC News >> | BBC Sport >> | BBC Weather >> | BBC World Service >> | BBC Languages >>