चीन का आर्थिक विकास धीमा हुआ

  • 18 अक्तूबर 2011
china economy इमेज कॉपीरइट Getty
Image caption एसी चिँता है कि विश्व अनिश्चितता के चलते चीन की आर्थिक वृद्धि और कम हो सकती है

चीन की आर्थिक वृद्धि पिछले तीन महीनों में 9.1 प्रतिशत रही है जबकि उससे पिछली तिमाही में यह 9.5 प्रतिशत दर्ज की गई थी. ताज़ा आँकड़े सितंबर तक के हैं.

यह आँकड़े ऐसे समय में आए हैं जब यह भय है कि अमरीका की मंदी और यूरोप का कर्ज संकट चीन के विकास पर असर डाल सकता है.

चीन विश्व की दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है.

नेशनल ब्यूरो ऑफ़ स्टैटिस्टिक्स के बयान में कहा गया है कि राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था ने आमतौर पर अच्छा विकास किया और अपेक्षित व्यापक आर्थिक नियंत्रण की ओर बढ़ा.

उपाय

चीन ने पिछले सालों में मज़बूत विकास किया है. लेकिन इस तेज़ प्रगति की उसे कीमत चुकानी पड़ी है.

चीनी अधिकारी क्रेडिट बाज़ारों पर नियंत्रण कर देश की मुद्रास्फ़ीति दर और संपत्ति की बढ़ती कीमतों पर लगाम लगाते रहे हैं.

केंद्रीय बैंक ने पिछले साल में पाँच बार ब्याज दर बढ़ाई है और साथ ही बैंकों के लिए दर भी लगातार बढ़ी है जिससे वे कम ऋण दे सकें.

विश्लेषकों ने कहा कि जहां एक ओर इन उपायों ने मूल्य वृद्धि को नियंत्रित करने में मदद की है, इससे विकास भी रुका है.

आईएचएस ग्लोबल इनसाइट के चीन विशेषज्ञ ऐलिस्टर थार्नटन ने कहा, हम इस साल व्यापक मंदी देख रहे हैं.

थार्नटन ने कहा कि पिछले साल उठाए गए कदमों से असर पड़ा है और इससे विकास भी धीमा हुआ है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार