तिब्बती नन ने किया आत्मदाह

  • 4 नवंबर 2011
चीन आत्मदाह इमेज कॉपीरइट AFP
Image caption चीन ने तिब्बती क्षेत्रों में भारी संख्या में सुरक्षा बलों को तैनात किया है

पश्चिमी चीन में तिब्बत की एक नन ने ख़ुद को आग लगा कर जान दे दी. इस साल चीनी सरकार के ख़िलाफ़ आत्मदाह करने वाली वह तिब्बत की 11वीं व्यक्ति हैं.

सिचुआन प्रांत में दवू में एक पुल पर 35-वर्षीय नन ने पेट्रोल डाल कर खुद को आग लगा ली.

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार नन का नाम क्यू शियांग था और उनके आत्मदाह करने का कारण स्पष्ट नहीं है.

लेकिन चीन सरकार के ख़िलाफ़ आंदोलन में सक्रिय संगठन 'फ़्री तिब्बत' ने कहा कि उन्हें यह कहते सुना गया कि 'दलाई लामा को तिब्बत वापस आने दो'.

संगठन के अनुसार उसने यह भी कहा कि चीनी राज में ''अपने अधिकारों के लगातार हो रहे क्रूर हनन'' से परेशान तिब्बतियों की इस 'अभूतपूर्व लहर' का यह सबसे ताज़ा मामला है.

दो नन समेत 11 तिब्बतियों ने अभी तक ख़ुद को आग लगाई है जिनमें से छह लोगों की मौत हुई है.

'गंभीरता पहचानें'

गुरुवार को अमेरिकी कांग्रेस के समक्ष गवाही तिब्बत के निर्वोसित सरकार के प्रधानमंत्री लॉबसैंग सांगे ने कहा कि दुनिया को तिब्बत में 'बढ़ रही इस त्रासदी' की 'गंभीरता और महत्व' को पहचानने की ज़रूरत है और इस क्षेत्र में एक तथ्य की जाँच के लिए एक समिति भेजी जानी चाहिए.

चीन ने दलाई लामा को 'परोक्ष रूप से आतंकवाद' को प्रायोजित करने का आरोप लगाया है.

संबंधित समाचार