तीन तिब्बतियों ने ख़ुद को जलाया

तिब्बती इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption पश्चिमी सिचुयान में लाखों तिब्बती बसे हैं.

चीन के खिलाफ़ जारी प्रदर्शन में दक्षिण-पश्चिमी चीन में तीन तिब्बतियों ने ख़ुद को आग लगा ली है.

अमरीका स्थित 'रेडियो फ्री एशिया' का कहना है कि घटना सिचुयान प्रांत में उस वक्त हुई जब प्रदर्शनकारी दलाई लामा के लौटने की माँग कर रहे थे.

निर्वासन में रह रहे कार्यकर्ताओं का कहना है कि घटना में एक तिब्बती की मौत हो गई है जबकि बाकियों को गंभीर चोटें आई हैं.

अगर इसकी पुष्टि हो जाती है तो खुद को आग लगाने वाले तिब्बतियों की संख्या 19 पहुँच जाएगी जबकि मरने वालों की तादाद बढ़कर 13 हो जाएगी.

ज़्यादातर प्रदर्शनकारी बौद्ध भिक्षु या नन हैं.

पश्चिमी सिचुयान में लाखों तिब्बती रहते है.

बीजिंग में बीबीसी संवाददाता माइकल ब्रिस्टो का कहना है कि अधिकारियों ने भारी सुरक्षा कार्रवाई शुरु कर दी है और काफी हिस्सों को बंद कर दिया है.

संवाददाता का कहना है कि दूरभाष सेवा को भी बंद कर दिया गया है और मुख्य सड़कों की नाके बंदी कर दी गई हैं.

ये घटना सेदा कॉउंटी में हुई है जहां किसी के आने-जाने पर चीनी शासन ने रोक लगा दी है, इसलिए इस बारे में कुछ भी पुख्त़ा तौर से नहीं कहा जा सकता है.

ब्रिटेन स्थित फ्री तिब्बत समूह ने भी एक बयान जारी कर इस घटना के बारे में विवरण दिया है.

हालांकि एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी एपी को बताया कि ऐसी कोई घटना नहीं हुई है.

संबंधित समाचार