चीन ने अपनी मुद्रा पर ढीली की लगाम

  • 16 अप्रैल 2012
इमेज कॉपीरइट AP
Image caption चीनी मुद्रा के मूल्य को लेकर चीन और अमरीका के बीच काफी समय से तनातनी रही है

चीन ने अपनी मुद्रा युआन पर नियंत्रण में कुछ ढील दी है जिससे उसके मूल्य में इजाफा हो सकता है.

'पीपल्स बैंक ऑफ चाइना' की तरफ से जारी बयान के मुताबिक सोमवार से डॉलर के मुकाबले युआन की कीमत में 1 प्रतिशत का उतार चढ़ाव हो सकता है. अब तक यह सीमा 0.5 प्रतिशत थी.

युआन की कीमत में 1 प्रतिशत के उतार चढ़ाव की अनुमति देने वाला बयान अंग्रेजी में जारी किया गया, जिसका मतलब है कि खास तौर से यह बयान पश्चिमी देशों के लिए है.

अमरीकी वित्त मंत्रालय ने चीन के कदम का स्वागत किया है.

"संतुलन कायम होगा"

अमरीका जैसे देशों का मानना है कि चीन ने जानबूझ कर अपनी मुद्रा का मूल्य कम रखा हुआ है ताकि वह अपने निर्यात को बढ़ा सके, लेकिन इससे अंतरराष्ट्रीय व्यापार में असंतुलन पैदा होता है.

एक अधिकारी ने समाचार एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि अगर इसे लागू किया जाता है तो यह चीन, अमरीका और विश्व अर्थव्यवस्था के लिए सकारात्मक होगा.

2005 तक डॉलर के मुकाबले चीनी युआन की कीमत स्थिर थी, लेकिन फिर उसमें बाजार के उतार चढ़ाव के मुताबिक कुछ बदलाव की ढील दी गई.

तब से डॉलर के मुकाबले युआन की कीमत में 31 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. फिलहाल एक डॉलर 6.30 युआन के बराबर है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार