हू जिंताओ के नाम वरिष्ठ कम्युनिस्टों का खुला पत्र

जोऊ इमेज कॉपीरइट Xinhua
Image caption जोऊ को बो शिलाई का समर्थक बताया जाता है

चीन में हाल के दशकों में हुई एक अनहोनी घटना में कम्युनिस्ट पार्टी के कुछ वरिष्ठ सदस्यों ने राष्ट्रपति हू जिताओ को एक खुला पत्र लिखा है. उनसे अनुरोध किया गया है कि वे एक प्रभावशाली राजनीतिक नेता जोऊ यॉंग्कांग को बर्खास्त करें.

जोऊ चीन में रक्षा मामलों के अध्यक्ष हैं और ये पत्र कई विदेशी वेबसाइटों में छपा है. जोऊ पर चीनी क्रांति के नेता और दशकों तक देश का नेतृत्व करने वाले चेयरमैन माओ जेडॉंग की नीतियों को बहाल करने का आरोप लगाया गया है.

गौरतलब है कि जिन वरिष्ठ कम्युनिस्टों ने खुला पत्र लिखा है, वे किसी प्रभावशाली पद पर नहीं है लेकिन उनमें से कुछ ने चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की सदस्यता 1949 से पहले ली थी जब पार्टी सत्ता में भी नहीं आई थी.

बो शिलाई के समर्थक

चीन के सुरक्षा मामलों के अध्यक्ष जोऊ यॉंग्कांग चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की नीति निर्धारण की सबसे उच्चस्तरीय संस्था स्टैंडिंग कमेटी के सदस्य हैं.

जब से चीन के प्रमुख राजनीतिक नेता और पोलितब्यूरो सदस्य बो शिलाई अपने पद से बर्खास्त हुए, तब से जोऊ के भविष्य के बारे में कयास लगाए जा रहे हैं.

ऐसा इसलिए क्योंकि जोऊ को बो शिलाई का बड़ा समर्थक बताया जाता है.

इमेज कॉपीरइट Reuters
Image caption शिलाई के विरुद्ध कई मामलों में जांच चल रही है

बो शिलाई के खिलाफ कई मामलों में जांच हो रही है और उनकी पत्नी को ब्रितानी व्यावसायी नील हेवुड की हत्या से जुड़े मामले में गिरफ्तार किया गया था.

'सैकड़ों का समर्थन, कुछ की धमकियाँ'

पत्र के लेखकों ने जोऊ को वामपंथी अभियान का हिस्सा बताया है जो चेयरमैन माओ की नीतियों की बहाली का प्रयास कर रही है.

पत्र के लेखकों में से एक - यू योंग्किंग - ने बीबीसी को बताया कि उन्हें अपने इस काम के लिए सैकड़ों समर्थन के फोन कॉल आए हैं और कुछ धमकियों वाले फोन कॉल भी आए हैं.

यूनान प्रांत में जाओटॉंग शहर में एक बड़ा पद संभालने वाले यू योंग्किंग को इसलिए पद छोड़ना पड़ा क्योंकि वे भी बो शिलाई के समर्थक थे.

इस पत्र में चेयरमैन माओ की नीतियों में दिलचस्पी पैदा करने के खतरों, चीन में भ्रष्टाचार और बिना राजनीतिक सुधारों के बढ़ती हुई अमीर-गरीब की खाई जैसे मुद्दों का जिक्र है.

चाहे आधिकारिक तौर पर इस मुद्दे पर कोई टिप्पणी नहीं हुई है लेकिन इस पत्र से स्पष्ट होता है कि जोऊ को लेकर पार्टी में काफी चिंता है.

संबंधित समाचार