अंतरिक्ष में चीन की नई उड़ान

अंतरिक्ष इमेज कॉपीरइट GETTY IMAGES
Image caption चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने कहा कि इस विमान में तीन अंतरिक्ष वैज्ञानिक होंगे.

चीन अंतरिक्ष वैज्ञानिकों के एक दल को जून के अंत तक अंतरिक्ष में भेजने की तैयारी कर रहा है.

शेंझू-9 नाम के इस विमान को अंतरिक्ष में ले जाने के लिए जिस रॉकेट का इस्तेमाल किया जाता है उसे देश के उत्तर-पश्चिमी इलाके में स्थित एक प्रक्षेपण केंद्र में तैनात कर दिया गया है.

चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने कहा कि इस विमान में तीन अंतरिक्ष वैज्ञानिक होंगे जिसमें एक महिला भी शामिल हो सकती है. ये सभी वैज्ञानिक ताइंगॉंग-1 अंतरिक्ष केन्द्र जाएंगे.

साल 2008 के बाद ये चीन की पहली अंतरिक्ष उड़ान है और कुल मिलाकर चीन की चौथी.

वहीं साल 2003 में चीन अपना मानवयुक्त विमान अंतरिक्ष भेजने वाला तीसरा देश था.

अंतरिक्ष केंद्र विकसित करने की जुगत

चीन ने पिछले साल एक तकनीक विकसिक की जिससे अंतरिक्ष विमान चीन के अंतरिक्ष केंद्र ताइंगॉंग-1 से स्वचालित तरीके से जाकर जुड़ गया. ये चीन के लिए एक बड़ी उपलब्धि थी.

शेंझू-9 विमान भी अंतरिक्ष में पृथ्वी का चक्कर लगा रहे ताइंगॉंग-1 से जुड़ जाएगा, जहां वैज्ञानिक जानकारी जुटाने की कोशिश करेंगे.

शिन्हुआ के अनुसार चीन के अंतरिक्ष कार्यक्रम के उप-प्रमुख नियू होंगांग ने कहा, “विमान से अंतरिक्ष जा रहे वैज्ञानिकों के दल में महिलाएं भी हो सकती है.”

ये मिशन चीन के उस कार्यक्रम का हिस्सा है जिसके तहत वो अपने अंतरिक्ष केंद्र को पूरी पृथ्वी का चक्कर लगाने के लिए विकसित कर रहे है.

बीजिंग साल 2020 तक 60 टन का मानवयुक्त अंतरिक्ष केंद्र बनाने की योजना बना रहा है.

इससे पहले चीन को 16 देशों के संयुक्त प्रयास से चलाए जा रहे अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र परियोजना से अमरीका के प्रतिरोध के बाद बाहर कर दिया गया था.

संबंधित समाचार