बच्चों के अवैध व्यापार गिरोहों का पर्दाफाश

  • 7 जुलाई 2012
चीनी बच्चे
Image caption पुलिस ने बच्चों के अवैध व्यापार में जुटे दो गिरोहों का पर्दाफाश किया.

चीन में पुलिस ने बच्चों का अवैध व्यापार करने वाले दो बड़े गुटों का पर्दाफाश करते हुए 181 बच्चों को उनके चंगुल से छुड़ाया है.

जन सुरक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि बीते सोमवार को एक देशव्यापी ऑपरेशन में 802 संदिग्धों को हिरासत में लिया है.

इन गुटों द्वारा अग़वा किए गए बच्चों को गोद देने, मज़दूरी करवाने और लोगों के घरों में काम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता था.

बच्चों का अवैध व्यापार चीन में एक बड़ी समस्या बनता जा रहा है और आलोचकों का कहना है कि इसके देश ‘एक-बच्चा’ नीति और गोद लेने के लिए ढीले कानून जिम्मेदार हैं.

आलोचकों के अनुसार इन नीतियों की वजह से बच्चों के अवैध व्यापार को बढ़ावा मिल रहा है.

बीजिंग स्थित बीबीसी संवाददाता मार्टिन पेसेंस के अनुसार चीनी समाज में लड़कों को तरजीह दी जाती है, जिसके चलते इनकी मांग बहुत अधिक है. महिलाओं और लड़कियों का अपहरण अकसर पत्नी या मजदूर बनाने के लिए किया जाता है.

मौजूदा ऑपरेशन की शुरूआत पिछले साल दिसंबर में हुई थी और ये अभियान 15 प्रांतों में चलाया गया.

सरकारी बयान के अनुसार मोस्ट वांटेड संदिग्ध शाओ जोंगयुआन को शानडोंग प्रांत में पकड़ा गया है.

उसके गिरोह पर सौ बच्चों के अपहरण का आरोप है. कई अन्य संदिग्धों को भी हिरासत में लिया गया है.

संबंधित समाचार