BBC World Service LogoHOMEPAGE | NEWS | SPORT | WORLD SERVICE DOWNLOAD FONT | Problem viewing?
BBCHindi.com

पहला पन्ना
भारत और पड़ोस
खेल और खिलाड़ी
कारोबार
विज्ञान
आपकी राय
विस्तार से पढ़िए
हमारे कार्यक्रम
प्रसारण समय
समाचार 
समीक्षाएं 
आजकल 
हमारे बारे में
हमारा पता
वेबगाइड
मदद चाहिए?
Sourh Asia News
BBC Urdu
BBC Bengali
BBC Nepali
BBC Tamil
 
BBC News
 
BBC Weather
 
 आप यहां हैं: 
 क्रिकेट वर्ल्ड कप
शनिवार, 22 मार्च, 2003 को 15:48 GMT तक के समाचार
फ़ाइनल के लिए सब तैयार
क्या सौरभ की टोली 1983 दोहरा पाएगी?
क्या सौरभ की टोली 1983 दोहरा पाएगी?



सिर्फ़ क्रिकेट प्रेमी ही नहीं, ख़ुद भारत और ऑस्ट्रेलिया की टीमें भी रविवार सुबह का बेसब्री से इंतज़ार कर रही हैं.

शनिवार का दिन दोनों ने हल्के फुल्के अभ्यास में बिताया. ऑस्ट्रेलियाई टीम के तो गिने चुने खिलाड़ी ही प्रेक्टिस के लिए पहुँचे जबकि भारतीय टीम ने अच्छा ख़ासा अभ्यास किया.


बचपन से ही 1983 की जीत हमें प्रेरणा देती आ रही है. पर ये बात 20 साल पहले की है. अब हम दोबारा फ़ाइनल में हैं और जीतने को बेताब हैं

सौरभ गांगुली
दोनों टीमें ज़बर्दस्त फ़ॉर्म में हैं. ऑस्ट्रेलिया की जीत का सफ़र तो पिछले 16 वनडे मैचों से बिना रुके चल रहा है और वर्ल्ड कप में वो एक बार भी नहीं हारे हैं.

लेकिन आपको याद होगा कि 2 साल पहले यही ऑस्ट्रेलियाई टीम स्टीव वॉ की कप्तानी में लगातार 16 टेस्ट मैच जीत कर भारत के दौरे पर आई थी जहाँ भारत ने उसका विजय अभियान रोक दिया था.

अब भारत के पास एक बार फिर मौक़ा है इतिहास लिखने का.

भारत ने भी अपने वर्ल्ड कप अभियान की शुरुआत तो सहमे हुए अंदाज़ में की थी लेकिन धीरे धीरे उसके विजय रथ ने रफ़्तार पकड़ी और कई दिग्गजों को रास्ते से हटा कर वो फ़ाइनल तक पहुँचा है.

भारत के लिए अच्छी ख़बर है कि उपकप्तान राहुल द्रविड की उंगली की चोट अब काफ़ी ठीक है और वो फ़ाइनल खेलने के लिए तैयार होंगे.

मैच से पहले भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली ने 20 साल पहले के उस जादुई लम्हे को याद किया जब भारत ने पहली बार वर्ल्ड कप पर क़ब्ज़ा किया था.

गांगुली ने कहा, "बचपन से ही 1983 की जीत हमें प्रेरणा देती आ रही है. पर ये बात 20 साल पहले की है. अब हम दोबारा फ़ाइनल में हैं और जीतने को बेताब हैं.''

कड़ा मुक़ाबला

इस बार सौरभ गांगुली की वर्ल्ड कप जीतने की उम्मीदों में काफ़ी दम नज़र आता है. उनके बल्लेबाज़ों और गेंदबाज़ों ने इस प्रतियोगिता में ज़बर्दस्त खेल दिखाया है.

सचिन तेंदुलकर तो पहले ही सबसे ज़्यादा रन बना कर मैन ऑफ़ द टूर्नामेंट का ख़िताब लगभग अपने नाम कर चुके हैं.

कप्तान सौरभ गांगुली ख़ुद, राहुल द्रविड और युवराज सिंह भी अच्छी फ़ॉर्म में हैं. और फिर तेज़ गेंदबाज़ों की तिकड़ी श्रीनाथ, ज़हीर ख़ान और आशीष नेहरा ने तो वैसे ही धूम मचा रखी है.

ऑस्ट्रेलियाई खेमे में शेन वॉर्न और जेसन गिलेस्पी के न होने के बावजूद उनके खेल पर कोई असर पड़ता नहीं लगता. घायल डेमियन मार्टिन के भी मैच से पहले ठीक हो जाने की उम्मीद है.

एडम गिलक्रिस्ट, मैथ्यू हेडन, रिकी पोंटिंग, एंड्रयू सायमंड्स और माइकल बेवन से सजा है ऑस्ट्रेलियाई बैटिंग लाइन अप जबकि गेंदबाज़ी की धार हैं ग्लैन मैकग्रा, एंडी बिकल और तूफ़ानी ब्रेट ली.

ली से तो उनके कप्तान पोंटिंग ने भी काफ़ी उम्मीदें लगा रखी हैं. पोंटिंग ने कहा, ली बिल्कुल तैयार हैं. पिछले सभी मैचों की तरह. उन्होंने खेल के हर पड़ाव पर विकेट लिए हैं और कल भी उम्मीद है कि विकेट से उन्हें मदद मिलेगी और वो पूरा फ़ायदा उठाएँगे.

फ़ाइनल तक का सफ़र

ऑस्ट्रेलिया ने पहले दौर में भारत, इंग्लैंड, पाकिस्तान, ज़िम्बाब्वे, हॉलैंड और नामीबिया को हराया.

उसके बाद सुपर सिक्स में उसने न्यूज़ीलैंड, श्रीलंका और कीनिया का सफ़ाया किया.

सेमिफ़ाइनल में भी ऑस्ट्रेलिया ने श्रीलंका की चुनौती को आसानी से ठिकाने लगा दिया.

फ़ाइनल तक के सफ़र में ऑस्ट्रेलिया को सिर्फ़ इंग्लैंड, न्यूज़ीलैंड और कुछ हद तक कीनिया ने परेशान किया, बाक़ी टीमों ने तो आसानी से घुटने टेक दिए.

भारत ने भी पहले दौर में हॉलैंड को पीटने के बाद सिर्फ़ ऑस्ट्रेलिया से मात खाई.

उसके बाद सचिन तेंदुलकर का बल्ला अपने रंग में आया और उसने पाकिस्तान, इंग्लैंड, ज़िम्बाब्वे और नामीबिया को पटखनी दी.

सुपर सिक्स में भारत ने श्रीलंका और न्यूज़ीलैंड को तो आसानी से हरा दिया लेकिन कीनिया को हराने में उसे काफ़ी पसीना बहाना पड़ा.

सेमिफ़ाइनल में भारत ने पिछली ग़लती नहीं दोहराई और कीनिया को बताया कि वो किस लायक है.

रविवार को होने वाला फ़ाइनल मैच देखने के लिए भारत से कई जानी मानी हस्तियाँ जोहानिसबर्ग पहुँच चुकी हैं. इनमें शामिल हैं कई फ़िल्मी सितारों के अलावा केन्द्रीय खेल मंत्री विक्रम वर्मा, क़ानून मंत्री अरुण जेटली और श्रम मंत्री साहिब सिंह वर्मा.

तो मंच तैयार क्रिकेट के इस महाकुँभ के आख़िरी मुक़ाबले के लिए जिसके बाद तय होगा कि कौन सी टीम अगले 4 साल तक वर्ल्ड चैंपियन कहलाएगी.
 
 
अन्य ख़बरें
22 मार्च, 2003
'भारतीय गेंदबाज़ों से चिंता'
22 मार्च, 2003
जी जान लगा देंगे: द्रविड
22 मार्च, 2003
ऐसी है ऑस्ट्रेलियाई टीम
21 मार्च, 2003
अब तो पाकिस्तान भी साथ है
इंटरनेट लिंक्स
विश्व कप क्रिकेट 2003
बीबीसी अन्य वेब साइट की विषय सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है
कुछ और पढ़िए
भारत की शुरूआत जीत से
शोएब पर भरोसा बरक़रार
इमरान फिर मैदान में
किसी तरह जीते कोस्टा
सहवाग बने उपकप्तान
सुस्त गेंदबाज़ी पर जुर्माना
'नेताओं को निकाल बाहर करो'







BBC copyright   ^^ हिंदी

पहला पन्ना | भारत और पड़ोस | खेल और खिलाड़ी
कारोबार | विज्ञान | आपकी राय | विस्तार से पढ़िए
 
 
  कार्यक्रम सूची | प्रसारण समय | हमारे बारे में | हमारा पता | वेबगाइड | मदद चाहिए?
 
 
  © BBC Hindi, Bush House, Strand, London WC2B 4PH, UK