देशहित में बोलने से कैसा डर : अजय देवगन

  • सुप्रिया सोगले
  • बीबीसी हिंदी डॉटकॉम के लिए

अक्सर विवादों से दूर नज़र आनेवाले अजय देवगन ने हाल ही में बॉलीवुड में पाक कलाकारों के काम करने को लेकर काफ़ी साहसी बयान दिया.

भारत-पाक रिश्ते की नाज़ुक घड़ी में अजय ने पाकिस्तानी कलाकारों का हिंदी फ़िल्म इंडस्ट्री में काम करने पर आपत्ति जताते हुए उन्हें बैन करने की मांग की थी.

जबकि आधा बॉलीवुड पाक कलाकारों के समर्थन में नजर आ रहा था.

अजय देवगन ने साफ़ कहा है, "देशहित से जुड़ी बातों पर अपनी राय रखने में मुझे किसी से कोई डर नहीं लगता. हम बॉलीवुड को देश से अलग नहीं कर सकते. कलाकार देश से आता है और देश के सामने बॉलीवुड कुछ नही है. वहां बॉर्डर पर गोलियां चल रही हैं और हम कला की बात कर रहे है. कला देशहित से ऊपर नहीं."

अजय ने इस मुद्दे पर अन्य कलाकारों की टिप्पणी को उनकी व्यक्तिगत राय मानते हुए उनपर कोई प्रतिक्रिया देने से साफ़ इनकार कर दिया.

उनके मुताबिक़, "जब फ़िल्म इंडस्ट्री पर कोई संकट मंडराता है तब पूरी इंडस्ट्री एकजुट हो जाती है और इंडस्ट्री के लोग अपने-अपने तरीके से उस मुद्दे पर अभिव्यक्ति प्रकट करते हैं."

पाक कलाकारों पर बैन की मांग कर रहे अजय की आने वाली फ़िल्म में ज़्यादातर कलाकार विदेशी हैं.

इस बारे में उनका कहना है, "हमारे यहां प्रतिभा की कमी नहीं है, पर फ़िल्म की कहानी की आवश्यकता अनुसार फ़िल्म में कई विदेशी किरदार चाहिए थे. जिनके चयन में लगभग एक साल लग गए."

'ज़ख्म', 'गोलमाल' और 'सिंघम' जैसी हिट फ़िल्में दे चुके अजय देवगन ने 'शिवाय' में अभिनय के साथ ही निर्देशन की कमान भी संभाली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)