सोना मेरी पहचान, पर ग्रैमी मेरी चाह : बप्पी लहरी

  • 27 नवंबर 2016
प्लेबैक आपके उपकरण पर नहीं हो पा रहा
अपने जन्मदिन पर बप्पी दा का एक सपना जो अब तक अधूरा हैं.

आलोकेश लाहिड़ी को हम बप्पी लहरी के नाम से जानते हैं. आज उनका 64वां जन्मदिन है. सिर्फ़ चार साल की उम्र में लता मंगेशकर के एक गीत में तबला बजाकर मशहूर हुए आलोकेश लाहिड़ी को सब प्यार से बप्पी बुलाने लगे.

तब से अब तक वो बप्पी दादा के नाम से बॉलीवुड ही नहीं हॉलीवुड में भी फेमस हैं.

आज बप्पी लहरी लॉस एंजेल्स में हैं, जहाँ बीबीसी हिंदी ने उन्हें फ़ोन किया और बातचीत हुई.

बप्पी दा तुसी ग्रेट हो

'बिग बॉस' को बप्पी की झप्पी

अपने फ़िल्मी सफर में बप्पी लहरी ने कई अवार्ड जीते.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

80 का दशक बप्पी लहरी की डिस्को धुनों पर नाचा और उन्हें डिस्को किंग बना दिया. बॉलीवुड में संगीत को डिजिटल करने वाले संगीतकारों में बप्पी का बड़ा योगदान है.

'डर्टी पिक्चर' में बप्पी दा का तड़का !

'मेरे टैलेंट हंट में मोदी ड्रम बजाते तो ख़ूब नंबर देती'

अपने जन्मदिन पर अपनी उपलब्धियों को बताते हुए बप्पी लहरी ने बीबीसी को बताया, "मैंने कई अवार्ड जीते, पर ग्रैमी आजतक नहीं जीत पाया. मैंने अबतक पांच बार ग्रैमी में एंट्री भेजी है. इस बार एक एल्बम 'इंडियन मेलोडी' - जिसमे सूफी, लोक गीत और भारतीय संगीत शैली के दूसरे गीत मैंने पेश किए हैं - वो ग्रैमी गई है, उम्मीद करता हूँ इस बार ग्रैमी जीत जाऊं."

बप्पी लहरी 48 सालो से संगीत बना रहे हैं.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

उनका संगीत हॉलीवुड ने भी कई बार इस्तेमाल किया है. 1981 में आई फिल्म ज्योति का गाना 'कलियों का चमन' अमरीकन टॉप 40 का हिस्सा बना.

आजकल हॉलीवुड की एक कार्टून फ़िल्म 'मोआना' की डबिंग में व्यस्त बप्पी बताते हैं, 'मैंने एक्टिंग की है, लेकिन कार्टून फ़िल्म के लिए डबिंग करना एक अलग ही अनुभव है'.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए