शाहरुख ख़ान का नया टीवी शो टेड टॉक्स इंडिया क्या है?

  • 11 दिसंबर 2017
टेड टॉक्स, शाहरुख खान इमेज कॉपीरइट TED TALKS

स्टार प्लस पर 10 दिसंबर से एक नया शो शुरू हुआ है - 'टेड टॉक्स इंडिया: नई सोच'.

अभिनेता शाहरुख खान इस शो को होस्ट कर रहे हैं.

'टेड टॉक्स इंडिया: नई सोच' अमरीका की ग़ैर-लाभकारी मीडिया संस्था टेड (टेक्नोलॉजी, एंटरटेनमेंट, डिज़ाइन) और स्टार नेटवर्क के सहयोग से बनाया गया है.

यह दुनिया भर में होती रही टेड कॉन्फ़्रेंस का ख़ास भारत के लिए बनाया गया टीवी संस्करण है. रविवार को इसका पहला एपिसोड दिखाया गया.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

क्या है टेड टॉक्स (TED TALKS)

टेड कॉन्फ़्रेंस की शुरुआत फ़रवरी 1984 में हुई. यह एक ऐसा अंतरराष्ट्रीय मंच है जहां अलग-अलग विचारों के लोग अपनी सोच और अपनी कहानी लोगों से शेयर करते हैं.

टेड के मंच पर सिर्फ़ वही लोग बोलते हैं जिन्हें इसके लिए बाक़ायदा न्योता दिया गया हो. टेड में आने वाले वक्ता अपने-अपने क्षेत्र में कुछ ऐसा करके आते हैं जिसे जानना लोगों के लिए ज़रूरी हो.

हर वक्ता को 18 मिनट का समय दिया जाता है जिसमें उन्हें अपनी कहानी, काम, आइडिया और विचार लोगों के सामने रखने होते हैं.

ज़रूरी नहीं कि इसमें जाने-माने लोगों को ही बुलाया जाए.

टेड की कोशिश ज़्यादातर ऐसे लोगों को सामने लाने की होती है जिनकी कहानियां कम लोग जानते हैं.

शाहरुख का शो इसी टेड कॉन्फ़्रेंस का टीवी संस्करण है. लेकिन इसमें ज़ोर भारत की कहानियों को भारतीय भाषा में दिखाने पर दिया जाएगा.

इमेज कॉपीरइट @TEDTalks

शाहरुख ख़ुद भी टेड स्पीकर रह चुके हैं

टेड टॉक्स में पूर्व अमरीकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन, माइक्रोसॉफ़्ट के संस्थापक बिल गेट्स, अमेज़न के संस्थापक जेफ़ बेज़ोस, एस्ट्रोनॉट मे जेमिसन, गूगल के संस्थापक सर्गेइ ब्रिन और लैरी पेज स्पीकर के तौर पर आ चुके हैं.

शाहरुख खान भी टेड टॉक्स में बतौर स्पीकर बोल चुके हैं और अब वह भारत में इसके टीवी शो को होस्ट भी कर रहे हैं.

स्टार प्लस के मुताबिक भारत के शो में टीवी और फ़िल्म प्रोड्यूसर एकता कपूर, गीतकार जावेद अख़्तर, फिल्म निर्देशक करण जौहर और शेफ़ विकास खन्ना भी आएंगे.

ये सेलिब्रिटीज यहां लोगों के साथ अपने सफ़र पर बात करेंगे. इस शो की ख़ासियत यह है कि यहां आने वाले लोग हिंदी में बातचीत करेंगे.

इमेज कॉपीरइट TED TALKS

रविवार के शो के मेहमान

शाहरुख का यह शो आमिर ख़ान के सत्यमेव जयते के बाद भारतीय टेलीविज़न पर आने वाला ऐसा शो माना जा रहा है जो सामाजिक सरोकार वाले मुद्दों पर बातचीत करेगा.

10 दिसंबर को आए पहले एपिसोड में छह मेहमान आए. शो का फ़ॉर्मेट टेड कॉन्फ़्रेंस जैसा ही रखा गया है जहां हर वक्ता को दर्शकों के सामने 18 मिनट बोलने का समय मिलेगा.

पहले एपिसोड में आए डॉक्टर गौतम भान ने बस्ती में रहने वालों के अधिकार और उनके लिए समाज की सोच पर बात की.

दूसरे मेहमान शुभेंदु शर्मा ने बताया कि उन्होंने इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़कर पेड़ लगाने का काम क्यों शुरू किया.

'गैंग्स ऑफ़ वासेपुर' और 'ओए लकी लकी ओए' जैसी फ़िल्मों में संगीत देने वाली स्नेहा खनवालकर ने अपनी पहचान बनाने और अपनी ख़ासियत पहचानने पर बात की.

मनु प्रकाश ने फ़ोल्डस्कोप नाम का काग़ज़ से बनाया गया माइक्रोस्कोप दिखाया जिससे ऐसे इलाक़ों में खून की सामान्य जांच की जा सकती है जहां डॉक्टर और अस्पताल दूर हों.

उपन्यास लिखने वाली मंजू कपूर ने महिलाओं और पुरुषों की बराबरी पर बात की और युवा वैज्ञानिक अनिरुद्ध शर्मा ने दिखाया कि वो प्रदूषण का इस्तेमाल नई चीज़ें बनाने के लिए कैसे करते हैं.

इमेज कॉपीरइट @StarPlus

क्या है टेडएक्स

टेड टॉक भारत में पहली बार आया है, लेकिन टेडएक्स भारत में होता रहा है. टेडएक्स एक छोटे इवेंट के तौर पर होता है.

यह भी टेड टॉक से मिलता-जुलता है. इसमें भी स्पीकर अपने आइडिया और विचारों को शेयर करते हैं.

टेड से लाइसेंस लेकर कोई भी इसका आयोजन करा सकता है. साल 2015 से यह हर साल हैदराबाद में आयोजित होता रहा है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए