मीम बनाने वालों से क्यों डरते हैं आर माधवन?

  • 26 जनवरी 2018
आर माधवन इमेज कॉपीरइट Spice
  • 'कभी संघर्ष करने की ज़रूरत नहीं पड़ी, सब कुछ चरणों में मिला.
  • जनता का काम करने के लिए मुझे सत्ता में आने की ज़रूरत नहीं.
  • आज ऐसे मीम बनते हैं कि अच्छे ख़ासे आर्टिस्ट का करियर बर्बाद हो सकता है.'

'3 इडियट्स', 'रंग दे बसंती' और 'तनु वेड्स मनु' जैसी हिट फ़िल्मों के एक्टर आर माधवन का कहना है कि उन्हें अपने अभिनय करियर में कभी भी संघर्ष करने की ज़रूरत नहीं पड़ी, वो भगवान के बंदे हैं और उन्हें सब कुछ चरणों में मिला है.

फ़िल्म इंडस्ट्री, जहां एक्टर्स को आसानी से काम नहीं मिलता, इसी इंडस्ट्री में आर माधवन ख़ुद को लकी मानते हैं.

बीबीसी से रूबरू हुए आर माधवन का कहना है, "मैंने ज़िंदग़ी में कभी संघर्ष नहीं किया. मुझे कभी कोई तकलीफ़ नहीं हुई. मैं कभी किसी निर्माता के पास काम मांगने नहीं गया. ना किसी निर्माता या अभिनेत्री को काम की आस में खाने पर लेकर गया. मेरे टीवी के दिनों में भी मुझे ऐसा कुछ करने की ज़रूरत नहीं पड़ी. मुझे हमेशा से ही सामने से काम आया है."

इमेज कॉपीरइट Spice PR

जब भारत भ्रमण पर निकले माधवन

47 साल के आर माधवन ने 2011 से लेकर 2015 तक अपने अभिनय करियर में एक ब्रेक लिया और भारत भ्रमण के लिए निकल पड़े.

इस भ्रमण का वजह उन्होंने नई पीढ़ी को समझने की एक कोशिश बताई. इस दौरान माधवन पंजाब, ओडिशा, मध्यप्रदेश और भारत के विभिन राज्यों में गए और समझा कि वहाँ लोगों को क्या पसंद आ रहा है. लोग किस तरह की फ़िल्में देख रहे हैं और कैसे उनकी सोच में बदलाव आ रहा है.

माधवन मानते हैं कि इस यात्रा से मिले अनुभव की वजह से अब वो ऐसी कहानियां कर रहे हैं, जो आज की पीढ़ी के लायक हैं.

आज की पीढ़ी पर टिप्पणी करते हुए माधवन आगे कहते हैं, "आज की सोशल मीडिया पीढ़ी को अगर आप ऐसी वैसी कहानियाँ देंगे तो वो चिढ़ जाएंगे. वो ऐसे मीम बनाते हैं, जिससे अच्छे ख़ासे आर्टिस्ट बर्बाद हो सकते हैं."

इमेज कॉपीरइट Spice Pr

'लड़कियों से मिला ख़ास आकर्षण'

माधवन मानते हैं, ''40 की उम्र में उन्हें एक ख़ास तरह का आकर्षण लड़कियों से मिलता है. दुनिया में सुपरस्टार 40 की उम्र के बाद ही बने हैं. 40 के पड़ाव के बाद फ़िल्मों में हीरो के किरदार मिलना आसान है. इस उम्र के पड़ाव का भी मैं आनंद ले रहा हूं.''

साउथ सुपरस्टार रजनीकांत और कमल हासन ने हाल ही में राजनीति में कदम रखने का फैसला किया है.

लेकिन आर माधवन की ऐसी कोई इच्छा नहीं है. उनका कहना है कि जनता जनार्दन के लिए उन्हें सत्ता की ताकत की ज़रूरत नहीं और ना ही उनमें नेता बनने की खूबी है. वो अपनी क्षमता अनुसार लोगों के लिए काम कर रहे हैं.

आर माधवन अमेज़ॉन प्राइम की आने वाली सिरीज़ "ब्रीथ" में नज़र आएंगे. इसमें वो एक ऐसे बेबस पिता का किरदार निभा रहे हैं, जो अपने बेटे को बचाने के लिए कानून को हाथ में ले लेता है.

कंगना से कोई मुकाबला नहीं- माधवन

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे