जैकलीन के एक दो तीन... से क्यों ख़फ़ा हैं दर्शक?

  • 22 मार्च 2018
एक दो तीन... जैकलीन फर्नांडिस इमेज कॉपीरइट Twitter/@Asli_Jacqueline/BBC

बॉलीवुड में 'मोहिनी' की वापसी बड़े पर्दे पर 29 साल बाद हो रही है. 1980 के दशक में दर्शकों के दिलों पर राज करने वाले इस सिनेमाई पात्र के नए अवतार का दीदार लोगों ने कर लिया है.

भारतीय टेलीविजन और यूट्यूब पर अपनी कुछ झलकियों से मोहिनी नई पीढ़ी के दर्शकों को मोहने में बहुत कामयाब नहीं रही हैं. वहीं, 'मोहिनी' के जमाने के लोग निर्माता पर उनके बचपन की यादों से खिलवाड़ करने का आरोप लगा रहे हैं.

नई मोहिनी को लोग पसंद कम और उनके अंदाज पर नाराज़गी ज़्यादा व्यक्त कर रहे हैं.

फ़िल्म बाग़ी 2 का गाना 'एक दो तीन...' को यूट्यूब पर रिलीज हुए चार दिन ही हुए हैं और उस देखने वालों की संख्या करोड़ों में पहुंच गई है.

गुरुवार की सुबह तक इसे करीब दो करोड़ लोग देख चुके हैं पर अधिकतर लोगों ने गाने के फिल्मांकन पर नाराजगी ज़ाहिर की है.

इमेज कॉपीरइट TWITTER/@NGEMovies/BBC

नया गाना 1988 में रिलीज हुई फिल्म तेज़ाब का गाना 'एक दो तीन...' का रीमेक है, जिसने माधुरी दीक्षित को रातों-रात स्टार बना दिया था.

फ़िल्म ब्लॉकबस्टर हिट रही थी. बागी 2 में यह आइटम सॉन्ग जैकलीन फर्नांडिस पर फिल्माया गया है. अब दर्शक इनकी तुलना ऑरीजिनल गाने की माधुरी दीक्षित से कर रहे हैं.

लोग जहां जैकलीन की अदाओं को नापसंद कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग कोरियोग्राफी की भी आलोचना कर रहे हैं.

सोशल मीडिया और यूट्यूब पर लोगों ने इसे माधुरी के गाने की हत्या बताई है. लोग #ekdoteen से अपनी प्रतिक्रिया जाहिर कर रहे हैं.

फ़िल्म क्रिटिक और ट्रेड एनालिस्ट ने ट्वीटर पर लिखा है कि इस गाने से फिल्म की निगेटिव पब्लिसिटी हो रही है. फिल्म से गाने को हटा दिया जाना चाहिए.

ट्विटर हैंडल @theClaiire ने ऑरिजीनल गाने को बेहतर बताया है. उन्होंने लिखा है कि माधुरी का गाना आइकॉनिक इसलिए है क्योंकि उसमें महिलाओं को अभिलाषा की वस्तु के रूप में नहीं दिखाया गया है. लेकिन ये गाना इसके उलट है.

प्रमोद बागड़े ने माधुरी की एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें उनके हाथों में बंदूक है. उन्होंने लिखा है, "नए एक दो तीन... देखने के बाद माधुरी."

तेज़ाब के निर्देशक खफा

फ़िल्म तेज़ाब का गाना यूट्यूब पर 6 जनवरी, 2014 को पब्लिश किया गया है, जिसे अभी तक करीब तीन करोड़ व्यूज मिले हैं. इस गाने में माधुरी अपने प्रेमी के इंताजर में पहरों की गिनती कर रही हैं, पर नए गाने को लोग कुछ ज्यादा ही बोल्ड मान रही हैं.

यह गाना लोगों को अपने बचपन की याद दिला रहा है. कुछ लोग यह भी प्रतिक्रिया दे रहे हैं कि जैकलीन का गाना उनके बचपन की खूबसूरत यादों के साथ खिलवाड़ कर रहा है.

इससे पहले भी बॉलीवुड में गानों के रीमेक बने हैं, पर रिलीज होने के साथ इतना विवाद शायद ही किसी गाने के साथ हुआ हो.

इतना ही नहीं फ़िल्म तेज़ाब के डायरेक्टर एन चंद्रा भी नए गाने के फिल्मांकन से खफा हैं. वहीं, ऑरिजिनल गाने की कोरियोग्राफर सरोज खान भी रीमेक के खिलाफ लीगल एक्शन लेने की बात कह रही हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

मिलते-जुलते मुद्दे