जॉन अब्राहम ने बताया, कैसे रुकेंगे बलात्कार

  • 21 जुलाई 2018
जॉन अब्राहम इमेज कॉपीरइट Hype PR

'परमाणु' और 'मद्रास कैफ़े' जैसी फिल्में कर चुके जॉन अब्राहम मानते हैं कि देश में महिलाओं की स्थिति ठीक नहीं है.

उनका मानना है कि हाल के दिनों में महिलाओं के ख़िलाफ़ अपराध बढ़े हैं और ऐसे मामलों में, ख़ास कर बलात्कार के मामलों में दोषियों को कड़ी सज़ा दी जानी चाहिए.

उन्होंने बीबीसी से कहा, "कुछ दिन पहले दिल्ली के पास गुड़गांव से मेरे ड्राइवर की भांजी को अगवा कर लिया गया था. उसकी उम्र 12 साल थी. फ़िलहाल पुलिस पूछताछ कर रही है."

"लेकिन मन में एक डर तो रहता ही है कि कहीं उसके साथ कुछ ग़लत न हो जाए."

जॉन कहते हैं कि लोगों को तब तक फ़र्क नहीं पड़ता जब तक उनके साथ ऐसा कुछ नहीं हो जाता है.

कुछ घटनाओं का ज़िक्र करते हुए जॉन कहते हैं, "मैं ये नहीं कहना चाहता पर बलात्कारियों को फांसी की सज़ा ही होनी चाहिए, लेकिन ये बात भी सच है कि जब तक अपराधियों के मन में डर नहीं होगा, तब तक ऐसे अपराध नहीं रुकेंगे."

इमेज कॉपीरइट Hype PR

जॉन अब्राहम कहते हैं कि पूरी दुनिया में बलात्कार को सबसे घिनौना अपराध माना गया है.

वो कहते हैं, "मुझे समझ नहीं आता कि किसी नाबालिग़ बच्ची के साथ ग़लत काम करने वाले को समाज में रहने की इजाज़त कैसे दी जा सकती है."

"ये बहुत ही अहम मुद्दा है और हम सबको इसके ख़िलाफ़ खड़ा होना चाहिए."

इमेज कॉपीरइट Hype PR

अच्छी फ़िल्में करना चाहते हैं जॉन

जॉन अब्राहम की अगली फ़िल्म 'सत्यमेव जयते' महिलाओं के ख़िलाफ़ हो रहे अपराधों पर है. एक लंबे अरसे के बाद वो कमर्शियल एक्शन फ़िल्म में नज़र आने वाले हैं.

वो चाहते हैं कि वो अब बेहतर कहानियों वाली फ़िल्में करें. उन्हें यकीन है कि उनकी आने वाली फ़िल्म दर्शकों का दिल जीत सकेगी.

'सत्यमेव जयते' में जॉन अब्राहम के साथ मनोज बाजपेयी भी नज़र आएंगे. फिल्म इसी साल स्वतंत्रता दिवस के मौके पर रिलीज़ होने वाली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)