यह अभिनेता रात में ढाई बजे उठकर करता है कसरत

  • 13 सितंबर 2018
मार्क वॉलबर्ग इमेज कॉपीरइट @MARKWAHLBERG
Image caption वॉलबर्ग कहते हैं कि वह दोपहर 3 बजे बच्चों को स्कूल लेने जाते हैं

'द इटैलियन जॉब', 'द डिपार्टेड' और 'ट्रांसफ़ॉर्मर्स' सीरीज़ की फ़िल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवाने वाले अभिनेता मार्क वॉलबर्ग के बारे में क्या आप जानते हैं कि वह सुबह कितने बजे सोकर उठते होंगे.

जब पूरी दुनिया सोने जाती है उस समय मार्क सोकर उठते हैं. इस हॉलीवुड अभिनेता ने अपनी दिनचर्या को सोशल मीडिया पर साझा किया है. इसमें आधी रात को उठकर एक्सर्साइज़ करना भी शामिल है.

47 वर्षीय मार्क अपनी अच्छी बॉडी के लिए जाने जाते हैं. उन्होंने इंस्टाग्राम पर अपने फॉलोअर्स के साथ सवाल-जवाब में दिनचर्या की पूरी जानकारी बताई.

एक आम दिन की तरह अभिनेता मार्क बिस्तर से रात ढाई बजे उठते हैं और आधा घंटा प्रार्थना करते हैं. सुबह सवा तीन बजे वह नाश्ते में दलिया, ब्लूबेरी और पीनट बटर लेते हैं.

इसके बाद वह 95 मिनट तक वर्कआउट करते हैं और फिर उसके बाद दोबारा खाते हैं. वह कहते हैं कि वह इसके बाद प्रोटीन शेक, तीन टर्की बर्गर और स्वीड पोटेटो के पांच पीस खाते हैं.

इसके बाद वह छह बजे के क़रीब आधा घंटा नहाते हैं और उसके बाद गोल्फ़ खेलते हैं. आठ बजे वह एक दूसरा स्नैक लेते हैं जिसमें 10 टर्की मीटबॉल होते हैं.

एक्सर्साइज़ के बाद आराम के लिए वह आधे घंटे के लिए क्रायोजेनिक चेम्बर में रहते हैं.

खिलाड़ियों के बीच में क्रायोथैरेपी एक प्रसिद्ध उपचार पद्धति है जिसमें हवा के तापमान को -100 डिग्री सेल्सियस तक लाया जाता है ताकि मांसपेशियों और जॉइंट के दर्द से छुटकारा पाया जा सके.

इस पूरे सत्र के बाद उनका काफ़ी लंबा दिन गुज़रता है.

इमेज कॉपीरइट Getty Images

परिवार के लिए अलग से समय

सुबह 10.30 बजे वह वापस खाना खाते हैं जिसमें दो उबले अंडों के साथ भुना चिकन, ओलिव्स, एवोकाडो, खीरा, टमाटर और अन्य सलाद लेते हैं.

सोकर उठने के आठ घंटे तक वह बैठकों में भाग लेते हैं, फोन का जवाब देते हैं या अपने परिवार के साथ समय बिताते हैं.

वॉलबर्ग की पत्नी रिया डरहम हैं और इन दोनों के चार बच्चे हैं. वॉलबर्ग कहते हैं कि वह अपने परिवार के साथ समय बिताने के लिए काफ़ी वक़्त रखते हैं.

वह कहते हैं, "कई समय मैं ट्रेनिंग करता रहता हूं और ख़ासकर के सप्ताहांत में अपने परिवार के सोने के समय मैं अपना अधिकतम काम निपटाता हूं."

वॉलबर्ग कहते हैं कि इन तमाम गतिविधियों के बीच वह अपने बच्चों को स्कूल से लाने के लिए भी समय रखते हैं.

ब्रिटेन के सेंट मैरी विश्वविद्यालय में अप्लाइड स्पोर्ट साइंसेज़ के प्रोफ़ेसर जॉन ब्रूअर कहते हैं कि इंसानी शरीर कठोर व्यायाम कर सकता है लेकिन फिर शरीर के आराम के लिए समय चाहिए होता है.

ब्रूअर बीबीसी से कहते हैं, "वॉलबर्ग सबसे कठिन व्यायाम कर रहे हैं और उनकी शारीरिक काया उसके अनुकूल होनी चाहिए और इसके परिणाम भी बदलने चाहिए."

हालांकि, वह कहते हैं कि इस तरह का व्यायाम कार्यक्रम वह लंबे समय तक शायद ही रख पाएं.

ब्रूअर कहते हैं कि 5 से 10 साल में शायद ही यह जीवनचर्या हो क्योंकि अब इतने समय तक इच्छाशक्ति बनाए नहीं रख सकते या आपका शरीर ख़ुद ही जवाब दे दे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए